जर्मनी में सौर ऊर्जा से चलेगी कार, लगे हैं 330 सोलर पैनल

220 0
  • कार ड्राइव करते समय अपने आप रिचार्ज होते रहेंगे पैनल, कार का प्रोटोटाइप बनकर तैयार

नई दिल्‍ली। दुनियाभर में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए पेट्रोलरहित कारों के उत्‍पादन और उसके लिए कई तरह के विकल्‍प पर काम तेज हो गया है। जर्मनी में एक ऐसी कार बनाने का दावा किया जा रहा है जो सौर ऊर्जा से चलेगी। बताया जा रहा है कि इसमें करीब 330 सोलर पैनल लगे हैं जो कार चलाने के दौरान अपने आप रीचार्ज होते रहेंगे। इस कार का प्रोटोटाइप बना लिया गया है।

अगले साल बाजार में आएगी कार

इस कार का प्रोटोटाइप म्‍यूनिख स्‍थित सोनो मोटर्स ने तैयार किया है। इसे ‘सियोन’ नाम दिया गया है। कंपनी का दावा है कि यह कार 2019 के अंत तक बाजार में उपलब्‍ध हो जाएगी और 2020 तक जर्मनी की सड़कों पर दौड़ने लगेगी। सोनो मोटर्स की लॉरिन हान ने बताया कि इस प्रोजेक्‍ट को 4 साल पहले गैराज में शुरू किया गया था। धीरे-धीरे इसका आकार इतना बड़ा हो गया और हमें बड़ी जगह शिफ्ट होना पड़ा।

कितनी होगी कार की कीमत ?

कंपनी ने इस कार की शुरुआती कीमत करीब 12.73 लाख रुपये के होने का अनुमान जताया है। यह कार एक बार बैटरी रीचार्ज होने पर 250 किलोमीटर सफर करने में सक्षम होगी। इस कार की खास बात यह है कि इसमें लगे सौर पैनल ड्राइव करते हुए खुद ब खुद चार्ज हो जाएंगे। जर्मनी की योजना 2020 तक 10 लाख कारों को सड़क पर उतारने की है। इस कार के लिए अभी से 5000 लोग ऑर्डर बुक करवा चुके हैं।

क्‍या है इस कार की खासियत ?

खास बात यह है कि सियोन में लगे सोलर सेल्‍स इसकी बॉडी जैसे ही दिखते हैं और ऐसा नहीं लगता कि उन्‍हें अलग से लगाया गया है। ये सोलर सेल्‍स कार की छत, बोनट और साइड पैनल पर लगाए गए हैं। कार पर जैसे ही सूरज की रोशनी पड़ती है, इसकी बैटरी रीचार्ज होने लगती है। हालांकि कंपनी का कहना है कि उसने पारंपरिक चार्जिंग स्‍टेशन की भी व्‍यवस्‍था की है, ताकि कार मालिकों को खराब मौसम में परेशानी न उठानी पड़े।

प्रोजेक्‍ट के लिए जनता से जुटाए पैसे

कंपनी ने क्राउड फंडिंग या जनता से धनराशि जुटाकर इस कार का प्रोटोटाइप तैयार किया है। कंपनी ने इससे पहले कहा था कि इस कार के अर्बन और एक्‍सटेंडर 2 मॉडल होंगे। इस कार में 3 लोग आगे और 3 पीछे, कुल 6 लोग बैठ सकते हैं।

कार में आइसलैंडिक मॉस भी

सियोन में मॉस भी साथ में लगाया गया है, जो कार के अंदर की प्रदूषित हवा को बाहर कर अंदर के वातावरण में नमी नहीं आने देता है। यह आइसलैंड में उगने वाली एक तरह की काई या फंगस है, जो प्राकृतिक रूप से अपने आसपास की हवा को साफ करने का काम करता है। इसे कार के अंदर डैशबोर्ड पर लगाया गया है और इसमें पानी डालने या कुछ और करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

Related Post

एशियन गेम्स 2018 : 60 साल के प्रणब और 56 के शिवनाथ ने भारत को दिलाया 15वां गोल्ड

Posted by - September 1, 2018 0
  मुक्केबाज अमित पंघल ने भी मारा गोल्‍डेन पंच, पुरुष हॉकी में भारत को कांस्‍य पदक जकार्ता। इंडोनेशिया में चल रहे…

सलमान पर लगा हिंदू भावना को ठेस पहुंचाने का आरोप, कोर्ट ने दिया FIR दर्ज करने का आदेश

Posted by - September 13, 2018 0
मुंबई। बॉलीवुड के दंबग खान सलमान पर फिल्म ‘लवरात्रि’ के जरिए हिंदुओं की भावना को ठेस पहुंचाने का आरोप लगा…

‘पद्मावती’फिल्म के विरोध में पहली बार बंद हुआ चित्तौड़गढ़ फोर्ट

Posted by - November 17, 2017 0
जयपुर। फिल्म पद्मावती के विरोध में ऐतिहासिक चित्तौड़गढ़ किला शुक्रवार को पर्यटकों के लिए बंद है। भारत के सबसे बड़े किलों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *