ऑनलाइन शॉपिंग में बेंगलुरु देश में अव्‍वल, मुंबई और दिल्‍ली को पीछे छोड़ा

62 0

नई दिल्‍ली। ऑनलाइन शॉपिंग के मामले में देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को बेंगलुरु ने पीछे छोड़ दिया है। उद्योग संगठन एसोचैम और रिसर्जेंट इंडिया के संयुक्त रूप से किए गए एक अध्ययन में यह खुलासा हुआ है। इसके अनुसार, पिछले साल बेंगलुरु ने ऑनलाइन शॉपिंग के मामले में अन्य सभी शहरों को पीछे छोड़ दिया। मुंबई दूसरे और दिल्ली तीसरे स्थान पर रहा।

बेंगलुरु में 75 फीसदी लोगों ने की खरीदारी

अध्ययन के अनुसार, जहां मुंबई में 68 फीसदी लोगों ने ऑनलाइन खरीदारी की तो वहीं बेंगलुरु में 75 फीसदी लोगों ने कपड़ों, उपहारों, पत्रिकाओं, घरेलू उपकरणों, खिलौनों, गहनों, सौंदर्य उत्पादों और खेल के सामान आदि की ऑनलाइन शॉपिंग की। इन दोनों शहरों के मुकाबले दिल्ली में 65 प्रतिशत लोगों ने ही ऑनलाइन शॉपिंग की। मुंबई में यह आंकड़ा इस साल 72 और दिल्‍ली में 68 प्रतिशत तक पहुंचने की उम्मीद है।

क्‍यों बढ़ रही ऑनलाइन खरीदारी ?

अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया कि डिजिटल माध्यमों का इस्तेमाल, लॉजिस्टिक्स के बेहतर बुनियादी ढांचों, ब्रॉडबैंड और इंटरनेट सुविधा वाले डिवाइसों की उपलब्धता बढऩे से ऑनलाइन शॉपिंग में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। पिछले साल करीब 10 करोड़ लोगों ने ऑनलाइन शॉपिंग की। वर्ष 2020 तक इनकी संख्या बढ़कर 12 करोड़ पहुंचने का अनुमान है। वहीं, देश की कुल रिटेल बिक्री इस साल 1,244.58 अरब डॉलर पहुंचने की उम्मीद है, जो वर्ष 2014 में 717.73 अरब डॉलर थी। यह बिक्री 15 प्रतिशत सालाना की दर से बढ़ रही है।

मोबाइल कॉमर्स में भी आ रही तेजी

एसोचैम ने कहा कि मोबाइल कॉमर्स में भी तेजी से वृद्धि देखने को मिल रही है। इस साल इसमें और बढ़ोतरी की उम्‍मीद है, क्योंकि बड़ी संख्‍या में कंपनियां एम-कॉमर्स की ओर बढ़ रही हैं। अभी कुल ई-कॉमर्स का 30 से 35 प्रतिशत मोबाइल के जरिये होता है। अनुमान है कि वर्ष 2020 तक यह आंकड़ा बढ़कर 50  फीसदी पर पहुंच जाएगा।

महिलाएं दे रहीं ऑनलाइन शॉपिंग को तरजीह

भारतीय महिलाएं भी अब ऑनलाइन शॉपिंग को ज्यादा तरजीह देने लगी हैं। ओएलएक्स इंडिया द्वारा किए गए एक ऑनलाइन सर्वे में यह बात सामने आई है कि भारतीय महिलाएं ऑनलाइन शॉपिंग के मामले में घर के फैसलों में प्रमुख भूमिका निभाते हुए पहले के मुकाबले ज्यादा शॉपिंग कर रही हैं। यह सर्वे मुंबई, दिल्ली/एनसीआर, बेंगलुरु और चेन्नई जैसे प्रमुख शहरों में किया गया, जिसमें 26  साल से अधिक आयु की 300 से अधिक विवाहित महिलाओं ने हिस्सा लिया। सर्वे में 46 प्रतिशत महिलाओं ने बताया कि वो घर में हर किसी के लिए ऑनलाइन शॉपिंग की एकमात्र निर्णय लेने वाली सदस्‍य हैं।

 

Related Post

हिंदुस्तान हिंदुओं का देश, यहां रहने वाले सभी हिंदू : भागवत

Posted by - October 28, 2017 0
राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत ने शुक्रवार (27 अक्टूबर) को कहा कि हिंदुस्तान हिंदुओं का देश है लेकिन इसका…

जेल में थे श्रीसंत तो किचन में सोती थी वाइफ, बैन के वक्त पत्‍नी ने इस तरह दिया साथ

Posted by - September 17, 2018 0
नई दिल्ली। स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध झेल रहे एस श्रीसंत अब बिग बॉस 12 का हिस्सा हैं। घर…

नई खोज : अब ब्लड टेस्ट से पता चल जाएगा स्किन कैंसर है या नहीं

Posted by - October 24, 2018 0
मेलबर्न। स्किन कैंसर का पता लगाने के लिए शोधकर्ताओं ने एक आसान तरीका खोज निकाला है। ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने…

एक क्लिक से जानिए, क्या है अविश्वास प्रस्ताव, मोदी सरकार को कितना खतरा

Posted by - March 20, 2018 0
नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा न देने से नाराज तेलुगूदेशम पार्टी यानी टीडीपी और आंध्र की…

क़रीब चार साल बाद जेल से बाहर आए तलवार दंपति

Posted by - October 17, 2017 0
डासना/गाज़ियाबाद: इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा आरुषि-हेमराज दोहरे हत्याकांड में दोषमुक्त ठहराए गए दंत चिकित्सक दंपति राजेश और नूपुर तलवार सोमवार को…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *