चाइल्‍ड पॉर्न रोकने के लिए सरकार ला रही ऐप, शिकायत करें तो लेगी एक्‍शन

127 0
  • केंद्रीय गृह मंत्रालय ने की पहल, 14 अगस्‍त को लांच होगा ऐप, उमंग प्‍लेटफॉर्म पर होगा उपलब्‍ध

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल 16 मई को सोशल मीडिया नेटवर्क पर चाइल्ड पॉर्न और रेप के वीडियो रोकने के लिए प्रभावी कदम नहीं उठाने पर कई सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था। जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस उमेश ललित की पीठ ने सोशल नेटवर्किंग साइट्स को यह भी बताने का आदेश दिया कि हिंसक सेक्स वीडियो और चाइल्ड पॉर्न के प्रसारण रोकने को उन्‍होंने कौन से कदम उठाए हैं। इस बीच पता चला है कि केंद्र सरकार एक ऐसा ऐप लांच करने जा रही है, जिससे चाइल्‍ड पॉर्नोग्राफी पर रोक लगाना संभव हो सकेगा।

गृह मंत्रालय ने की पहल

सुप्रीम कोर्ट के इस मसले पर चिंता जताने के बाद अब गृह मंत्रालय ने एक पहल की है। गृह मंत्रालय चाइल्‍ड पॉर्न साइट्स पर रोक लगाने के लिए 14 अगस्‍त को एक ऐप लांच करने जा रहा है। इससे पहले भी सरकार ऐसी वेबसाइटों पर रोक लगाने का प्रयास कर चुकी है लेकिन टेलीकॉम ऑपरेटर्स का कहना था कि उनके लिए हर तरह की चाइल्‍ड पॉर्नोग्राफी वेबसाइट पर नजर रखना संभव नहीं है। इसके बाद सरकार ने यह नया ऐप लांच करने का फैसला किया है।

कैसे लगेगी रोक

मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि अगर आपको किसी वेबसाइट मिलती है जिस पर चाइल्‍ड पॉर्नोग्राफी  का कंटेट है तो आप इस ऐप  के जरिए इसकी शिकायत कर सकते हैं। आपके शिकायत करने के बाद सरकार को उस वेबसाइट को ब्‍लॉक करने या ऐसे कंटेंट हटाने में सहूलियत होगी। इस ऐप को उमंग के प्‍लेटफॉर्म पर भी लाने की तैयारी है।

Related Post

एनटी रामाराव के बेटे नंदमूरी हरिकृष्णा की नालगोंडा में भीषण सड़क हादसे में मौत

Posted by - August 29, 2018 0
हैदराबाद। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनटी रामाराव के बेटे और मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के साले नंदमूरी हरिकृष्णा की एक भीषण…

गुलाम नबी की धमकी – कर्नाटक में सरकार न बनाने दी तो होगा खूनी संघर्ष

Posted by - May 16, 2018 0
बेंगलुरु। कर्नाटक में जेडीएस के साथ मिलकर सरकार बनाने की कोशिश में जुटी कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *