जानिए, भारत में कहां रहते हैं सबसे ज्यादा अमीर, गरीबी सबसे ज्यादा कहां

47 0

नई दिल्ली। देश को आजाद हुए 70 साल से ज्यादा हो गए, लेकिन अमीरी और गरीबी की खाई पाटने की सारी कोशिशें बेकार साबित होती दिख रही हैं। एक सर्वे के मुताबिक भारत के पश्चिमी और दक्षिणी हिस्सों में सबसे ज्यादा अमीर रहते हैं। जबकि, पूर्वी भारत में गरीबों की संख्या ज्यादा है। इससे ये भी साफ होता है कि देश के पूर्वी इलाकों में विकास नहीं हो रहा है और देश के सिर्फ दो हिस्से के लोगों पर सरकारें करम करती रही हैं।

भारत में यहां बसते हैं सबसे ज्यादा अमीर 

  • सर्वे के अनुसार चेन्नई और आसपास के इलाकों में सबसे ज्यादा अमीर हैं। इनकी तादाद जनसंख्या का 61.08 फीसदी है।
  • अमीरी में दूसरा नंबर दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र का है। यहां जनसंख्या का 54.67 फीसदी लोग अमीर हैं।
  • तीसरे नंबर पर अमीर लोग बेंगलुरु क्षेत्र में बसते हैं। यहां जनसंख्या में अमीरों का आंकड़ा 50.93 फीसदी है।
  • चौथे नंबर पर मुंबई और पुणे क्षेत्र में अमीरों की संख्या है। इन दोनों क्षेत्रों में कुल जनसंख्या का 41.34 फीसदी अमीर हैं।
  • पांचवें नंबर पर हैदराबाद इलाका आता है। यहां जनसंख्या का 40.13 फीसदी अमीर हैं।
  • छठे नंबर पर कोलकाता क्षेत्र यानी देश का पूर्वी इलाका आता है। यहां जनसंख्या का 16.81 फीसदी अमीर हैं।

गरीबी में ये इलाका टॉप पर 

  • जनसंख्या में सबसे ज्यादा गरीब पूर्वी भारत में हैं। कोलकाता क्षेत्र में कुल जनसंख्या का 6.34 फीसदी गरीब हैं।
  • गरीबी में दूसरे नंबर पर दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र है। यहां कुल जनसंख्या का 2.61 फीसदी गरीब हैं।
  • तीसरे नंबर पर मुंबई-पुणे क्षेत्र है। यहां जनसंख्या का 2.08 फीसदी गरीब हैं।
  • चौथे नंबर पर हैदराबाद क्षेत्र है। यहां जनसंख्या का 1.47 फीसदी गरीब रहते हैं।
  • पांचवें नंबर पर बेंगुलुरु क्षेत्र है। यहां जनसंख्या का महज 0.73 फीसदी लोग ही गरीब हैं।
  • सबसे कम गरीब चेन्नई क्षेत्र में हैं। यहां जनसंख्या का 0.22 फीसदी ही गरीब हैं।

इन आधार पर की गई अमीरों और गरीबों की गिनती

गरीबी और अमीरी के आंकड़े जुटाने के लिए देखा गया कि किन परिवारों के पास पक्का घर, बिजली कनेक्शन, फोन, टीवी, एसी या कूलर, फ्रिज, वाशिंग मशीन और गाड़ी है। जिनके पास इनमें से कम से कम 6 चीजें थीं, उन्हें अमीर माना गया। जिनके पास कम से कम 5 चीजें थीं, उन्हें मध्यमवर्ग का माना गया। जबकि, जिन परिवारों के पास ऊपर लिखी चीजों में से एक या कोई भी नहीं था, उन्हें गरीब की श्रेणी में रखा गया।

Related Post

‘संजू’ का ट्रेलर हुआ रिलीज, 24 घंटे में 1 करोड़ से भी ज्यादा लोगों ने देखा

Posted by - May 31, 2018 0
मुंबई: बॉलीवुड एक्टर रणबीर कपूर की अपकमिंग फिल्म ‘संजू’ का ट्रेलर रिलीज़ हो गया है। ‘संजू’ फिल्म संजय दत्त की…

महराजगंज में गेहूं घोटाले का खुलासा, पकड़ा फर्जी क्रय केंद्र, संचालक हिरासत में

Posted by - May 25, 2018 0
माता फूड्स राइस मिल से छापे में बरामद हुआ 1054 बोरी सरकारी गेहूं, क्रय केंद्र की रसीदें भी मिलीं डीएम…

बीजेपी प्रवक्ता बोले – अलाउद्दीन खिलजी व औरंगजेब जैसे हैं राहुल

Posted by - November 23, 2017 0
गुजरात विधानसभा चुनाव में धुआंधार प्रचार कर रहे राहुल गांधी पर बीजेपी के नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने बहुत ही…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *