मुंबई में समुद्र किनारे जेलीफिश का आतंक, अबतक 150 लोग हुए शिकार

164 0

मुंबई। यदि आप मुंबई के समुद्र तटों पर जा रहे हैं तो सावधान हो जाएं। यहां के समुद्री तटों पर इन दिनों बड़ी संख्या में जेलीफिश देखी जा रही हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, बीते 2 दिनों में ही कम से कम 150 लोग इस जहरीली मछली का शिकार हुए हैं। इनके डंक मारने से लोग घायल हो गए हैं। ऐसे में बीएमसी ने एडवाइजरी जारी कर लोगों को बीच पर न जाने के लिए कहा है।

किन बीच पर है खतरा

कुछ दिन पहले ही मुंबई के गिरगांव और दादर के समुद्री तटों पर जेलीफिश के डंक मारने की घटना सामने आई थी। इनके अलावा जुहू, चौपाटी, अक्सा और वर्सोवा बीचों पर बड़ी संख्या में जेलीफिश को देखा गया है। विशेषज्ञों का कहना है कि मॉनसून के समय जेलीफिश समुद्र किनारे आ जाती हैं। दरअसल, यह उनके प्रजनन का वक्त होता है और काफी हल्‍की होने कारण ये लहरों के साथ बहकर किनारों पर आ जाती हैं। जेलीफिश द्वारा कई लोगों को काट लेने की घटनाओं से पर्यटकों में भी खौफ का माहौल है।

समुद्र तट पर जेलीफिश के हमले का शिकार हुआ एक बच्चा

क्‍या होता है जेलीफिश के काटने पर ?

अगर जेलीफिश किसी मनुष्य को डंक मार दे तो काफी तेज दर्द होता है, जो कई दिनों तक बना रहता है। कई बार काटे गए स्थान पर चकत्ते पड़ जाते हैं और वह स्थान सुन्न पड़ जाता है। कई मामलों में तो लोग बहरेपन की भी शिकायत कर चुके हैं। विशेषज्ञों की सलाह है कि लंबे वक्त तक दर्द रहने पर मेडिकल सहायता लेनी चाहिए।

काटने पर क्‍या करें : फिशरी डिपार्टमेंट के अरुण विधाले का कहना है कि अगर जेलीफिश ने आपको काट लिया है, तो घबराएं नहीं। उस हिस्से पर वेनेगर और गर्म पानी डालें, इससे असहनीय दर्द से थोड़ी राहत मिल जाएगी।

Related Post

बच्‍चे की सेहत बना नहीं बल्कि बिगाड़ रहे हैं हेल्थ डिंक्स, पिलाने से पहले 2 बार सोच लें

Posted by - December 5, 2018 0
नई दिल्ली। आजकल कोई भी बच्‍चा दूध में बिना कोई हेल्‍थ ड्रिंक मिलाए दूध पीना नहीं चाहता है। अब हर…

सुप्रीम कोर्ट में फांसी के खिलाफ याचिका दायर, कोर्ट का केंद्र को नोटिस

Posted by - October 6, 2017 0
नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को मृत्युदंड के लिए दी जानी वाली फांसी की सजा के खिलाफ दायर याचिका पर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *