ऑक्सीजन की कमी से 33 बच्चे मरे थे, अब BRD मेडिकल कॉलेज को लेकर फिर सियासत गरम

129 0

गोरखपुर। यहां के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बीते साल यानी 2017 की 10 अगस्त को ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से 33 बच्चों की जान गई थी। उस हादसे को एक साल हो गए हैं। बच्चों की मौत को लेकर उस वक्त यूपी की सियासत में भूचाल आ गया था, अब बीआरडी में मरीजों को ऑक्सीजन तो लगातार मिल रही है, लेकिन इसकी खरीद को लेकर विपक्षी समाजवादी पार्टी योगी आदित्यनाथ सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रही है।

महंगी ऑक्सीजन खरीदने का आरोप
बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हर महीने 1 लाख 20 हजार से डेढ़ लाख लीटर ऑक्सीजन खर्च होती है। समाजवादी पार्टी का कहना है कि उसकी सरकार के दौर में बीआरडी मेडिकल कॉलेज के लिए हर लीटर ऑक्सीजन 16 रुपए में खरीदी जाती थी। अब राजस्थान की इनॉक्स कंपनी से करीब साढ़े 19 रुपए प्रति लीटर ऑक्सीजन खरीदी जा रही है। पार्टी का कहना है कि ऐसे में ऑक्सीजन खरीद में बड़ा भ्रष्टाचार हो रहा है। वहीं, बीआरडी मेडिकल कॉलेज प्रशासन का कहना है कि भ्रष्टाचार नहीं हुआ है। ई-टेंडरिंग के जरिए राजस्थान की कंपनी को ठेका दिया गया है।

इन्सेफेलाइटिस मरीजों की संख्या को लेकर भी सियासत
समाजवादी पार्टी इन्सेफेलाइटिस के मरीजों की संख्या को लेकर भी योगी सरकार पर निशाना साध रही है। पार्टी का कहना है कि उसकी सरकार के दौरान रोज भर्ती होने वाले मरीजों और जान गंवाने वाले इन्सेफेलाइटिस मरीजों का आंकड़ा जारी होता था। अब हर दिन मौत की संख्या बताने पर रोक लगा दी गई है। जबकि, मेडिकल कॉलेज प्रशासन कह रहा है कि इस साल इन्सेफेलाइटिस बीमारी से ग्रस्त बच्चों की संख्या कम हुई है। प्रशासन का कहना है कि डेटा अब रोज योगी सरकार को भेजा जाता है। उसका ये भी कहना है कि इन्सेफेलाइटिस वार्ड में बेड की संख्या भी बढ़ाकर 343 कर दी गई है। पहले 138 मरीज ही यहां भर्ती किए जा सकते थे।

डॉक्टर कफील समेत 9 लोग गिरफ्तार हुए थे
बता दें कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 33 बच्चों की जान जाने के मामले में पीडियाट्रिक्स वॉर्ड के डॉक्टर कफील खान और ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी के संचालक समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। कफील खान पर आरोप था कि वो अस्पताल से ऑक्सीजन सिलेंडर ले जाकर अपने नर्सिंग होम में इस्तेमाल करते थे। वहीं, ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी पर गैस की सप्लाई रोक देने का आरोप लगा था। हालांकि, डॉक्टर कफील खान का आरोप है कि मुसलमान होने की वजह से उन्हें बलि का बकरा बनाया गया।

Related Post

भारत में 30 फीसदी महिलाएं भी हैं पॉर्न की शौकीन, सबसे ज्यादा सर्च किए गए ऐसे-ऐसे शब्द

Posted by - December 13, 2018 0
नई दिल्ली। पोर्न देखने के मामले में भारत दुनियाभर में तीसरे नंबर पर है। यहां 30 फीसदी महिलाएं पोर्न देखना…

BJP में शामिल होना चाहते हैं मक्का मस्जिद केस में फैसला देने वाले जज रेड्डी

Posted by - September 22, 2018 0
हैदराबाद। मक्‍का मस्जिद विस्‍फोट मामले में फैसला सुनाने के कुछ घंटे बाद ही इस्तीफा देने वाले पूर्व न्यायाधीश के. रविंदर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *