बीड़ी-सिगरेट के अलावा इस चीज से भी होता है फेफड़ों का कैंसर !

74 0

नई दिल्ली। सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पादों के सेवन से गले और फेफड़े का कैंसर होने के खतरे के बारे में सभी बात करते हैं। डॉक्टर भी कहते हैं कि सिगरेट, हुक्का या बीड़ी नहीं पीनी चाहिए, लेकिन एक शोध से पता चला है कि तंबाकू के सेवन से ही फेफड़ों का कैंसर नहीं होता, इसमें एक बड़ी भूमिका प्रदूषित हवा भी निभा रही है।

शोध से ये पता चला

  • दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल ने 150 कैंसर मरीजों के बारे में जानकारी जुटाई।
  • इन मरीजों में 50 फीसदी फेफड़े के कैंसर से पीड़ित थे। फेफड़े के कैंसर से हर साल सबसे ज्यादा लोगों की मौत भारत में होती है।
  • शोध से पता चला कि मरीजों में से तमाम ऐसे थे, जिन्होंने कभी बीड़ी-सिगरेट नहीं पी थी।
  • सर गंगाराम अस्पताल के शोधकर्ताओं के मुताबिक प्रदूषित हवा और खासकर इसमें पीएम 2.5 कणों की वजह से लोगों को फेफड़े का कैंसर होता है।
  • पीएम 2.5 ऐसे कण होते हैं, जो 2.5 माइक्रॉन से भी छोटे होते हैं। यानी इंसान के बाल से भी बारीक।
  • पीएम 2.5 के कण प्रदूषित हवा में रहते हैं और सांस के जरिए फेफड़ों तक पहुंचते हैं, जहां वो कैंसर, सांस की बीमारी और दिल की बीमारी की वजह बनते हैं।
  • वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने साल 2013 में इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर (IARC) के हवाले से बताया था कि प्रदूषित हवा से भी कैंसर हो सकता है।
  • भारत में हर 1 हजार लोगों में से 5 की मौत फेफड़ों के कैंसर से होती है। दिल्ली में ये आंकड़ा प्रति 1 हजार लोगों पर 7 की मौत का है।
  • अमूमन 60 साल या ज्यादा उम्र के लोग कैंसर के मरीज बनते हैं, लेकिन साल 2013 में चीन की 8 साल की बच्ची को प्रदूषित हवा की वजह से फेफड़े का कैंसर होने की बात सामने आई थी। वह दुनिया की सबसे कम उम्र की कैंसर मरीज थी।

Related Post

हिज्बुल में ‘शामिल’ एएमयू के मन्नान वानी का रूममेट भी लापता

Posted by - January 9, 2018 0
मन्‍नान के हॉस्‍टल के कमरे से किताबें, फोटोकॉपी, पेन ड्राइव समेत ‘संदिग्ध’ दस्तावेज मिले  अलीगढ़। जम्मू-कश्मीर के रहने वाले लापता…

केजरी को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने कहा – एलजी दिल्ली के बॉस

Posted by - November 2, 2017 0
सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने कहा – एलजी के पास ज्‍यादा अधिकार, पर उन्‍हें फाइल रोकने पर वजह बतानी पड़ेगी नई दिल्ली। उच्चतम…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *