सिगरेट छोड़कर हुक्का पी रहे हैं, तो आप ने खुद के लिए बढ़ा लिया है खतरा !

159 0

वॉशिंगटन। तमाम लोग सिगरेट छोड़कर हुक्का पीना शुरू कर देते हैं। वो सोचते हैं कि हुक्का में तंबाकू का धुआं पानी से छनकर आएगा, तो नुकसान कम करेगा। अगर ऐसा आप भी सोचते हैं, तो हम बता दें कि आप गलत सोच रहे हैं। एक शोध से पता चला है कि सिगरेट के मुकाबले हुक्का पीना ज्यादा नुकसान करता है। अमेरिका के जर्नल ऑफ कार्डियोलॉजी में ये शोध छपा है।

शोध ने हुक्का को बताया ज्यादा खतरनाक

  • शोध के मुताबिक आधे घंटे तक हुक्का गुड़गुड़ाने से फेफड़ों और दिल को वही खतरे पैदा होते हैं, जो सिगरेट पीने से होते हैं।
  • शोध करने वालों ने 48  लोगों के दिल की धड़कन, ब्लड प्रेशर, रक्त वाहिनियों के सख्त होने, खून में निकोटीन की मात्रा और उनके शरीर में कार्बन मोनोक्साइड की मात्रा को हुक्का पीने से पहले और बाद में मापा।
  • हुक्का पीने के बाद दिल की धड़कन 16 बार बढ़ गई। साथ ही ब्लड प्रेशर और रक्त वाहिकाएं भी सख्त हो गईं। बता दें कि फेफड़ों और दिल की बीमारी के संकेत भी यही होते हैं।
  • शोध करने वालों ने पाया कि हुक्का को काफी देर तक पीया जाता है, जिसकी वजह से शरीर में निकोटीन और अन्य खतरनाक तत्व बड़ी मात्रा में पहुंचते हैं। ऐसा सिगरेट पीने वालों के साथ नहीं होता।
  • शोध करने वालों के मुताबिक, तमाम युवा फलों के फ्लेवर वाले तंबाकू का हुक्का ये सोचकर पीते हैं कि ये स्वास्थ्य के लिए अच्छा है, लेकिन ये भी स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान पहुंचाते हैं।
  • शोधकर्ताओं ने पाया कि सिगरेट पीने वालों की संख्या कम हो रही है और हुक्का पीने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है।
  • हुक्का पीने वालों में ज्यादातर युवा और कॉलेज के छात्र होते हैं।
  • भारत के गांवों में हुक्का पीने का चलन सदियों पुराना है, लेकिन अब शहरों में भी हुक्का बार खुल गए हैं।
  • अमेरिका तक भी हुक्का पीने का चलन पहुंच गया है। अकेले कैलिफोर्निया में ही हुक्का और इससे जुड़ी चीजें बेचने वाली 2 हजार दुकानें खुल गई हैं। इसके अलावा यहां 175 हुक्का बार भी हैं।
  • अमेरिका में एक सरकारी सर्वे से पता चला कि वहां 18 से 24 साल के 18.2 फीसदी लोग हुक्का पीते हैं। 19.6 फीसदी सिगरेट पीते हैं और 8.9 फीसदी युवा ई-सिगरेट से निकोटीन लेते हैं।
  • शोध करने वालों ने जब लोगों से पूछा कि उन्हें हुक्का क्यों पसंद है, तो 48 फीसदी ने जवाब दिया कि उन्हें ये फ्रूट फ्लेवर की वजह से पसंद आता है।

Related Post

दस्तावेजी प्रक्रिया में पेच की वजह से ‘सौभाग्यशाली’ नहीं बन पा रहे गांव

Posted by - April 21, 2018 0
जोहानेस उरपेलेने पीएम नरेंद्र मोदी ने हर घर में बिजली पहुंचाने के लिए महत्वाकांक्षी योजना ‘सौभाग्य’ नाम से शुरू की थी। इस…

पहलवान सुशील कुमार और प्रवीण के समर्थकों में मारपीट

Posted by - December 29, 2017 0
दिनेश, प्रवीण राणा व जितेन्दर को हरा सुशील ने कॉमनवेल्‍थ खेलों के लिए किया क्‍वालिफाई नई दिल्ली। डबल ओलंपिक पदक विजेता…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *