शोध : डॉक्टरों-नर्सों में बातचीत की कमी से मरीजों की देखभाल में होती हैं गड़बड़ियां

91 0

मिशिगन। अस्पतालों में कई बार देखा जाता है कि मरीज की हालत बिगड़ती जाती है और मौत हो जाने पर परिजन आरोप लगाते हैं कि डॉक्टरों और नर्सों ने ठीक से देखभाल नहीं की। आखिर ऐसी स्थिति बनती क्यों है ? इस सवाल का जवाब एक शोध से निकला है। अमेरिका की मिशिगन यूनिवर्सिटी ने अपने शोध में पाया कि मरीजों की देखभाल में गड़बड़ियों और कमी की बड़ी वजह डॉक्टरों और नर्सों के बीच बातचीत न होना है।

शोध में ये पाया गया

  • मिशिगन यूनिवर्सिटी ने इस बारे में डॉक्टरों और नर्सों से बातचीत की।
  • इनमें ज्यादातर डॉक्टरों और नर्सों ने माना कि उनमें मरीज को लेकर बातचीत कम होती है।
  • बातचीत की कमी की बड़ी वजह ये है कि अस्पतालों में नर्सों को कर्मचारियों में से काफी नीचे जगह मिलती है, जबकि डॉक्टरों को काफी वरिष्ठ माना जाता है।
  • शोध से पता चला कि नर्सें सीधे तौर पर मरीजों के लिए जरूरत की चीजों की मांग नहीं करतीं। इससे डॉक्टरों को भी मरीज के बारे में जरूरी जानकारी नहीं मिल पाती है।
  • नर्सों और डॉक्टरों में बातचीत की कमी से डॉक्टरों को ये भी पता नहीं चल पाता कि किस वक्त मरीज की हालत कैसी रही या उसे कौन सी नई दिक्कतें हुईं।
  • जरूरी जानकारियों के अभाव में डॉक्टर अपनी तरफ से मरीजों के इलाज को तय करते जाते हैं।
  • शोध में पता चला कि एक मरीज मुंह में घाव की वजह से टैबलेट या कैप्सूल नहीं ले पा रहा था, लेकिन डॉक्टर को इसका पता नहीं था और वो इंजेक्शन या सीरप की जगह टैबलेट और कैप्सूल ही लिखता रहा।
  • शोध के दौरान एक डॉक्टर ने बताया कि वो नर्स को जवाब देने का मौका नहीं देते हैं।

Related Post

खत्म हुई तमिल फिल्म इंडस्ट्री की हड़ताल, अब पर्दे पर दिखेगा ‘काला’ का जलवा

Posted by - April 18, 2018 0
चेन्‍नै। तमिलनाडु फिल्म प्रोड्यूसर्स काउंसिल (TFPC) की 1 मार्च से चल रही हड़ताल आखिरकार खत्म हो गई है। ख़बरों की मानें तो तमिल फिल्म प्रोड्यूसर्स…

8.5 करोड़ रुपये में नीलाम हुए माल्या के दो हेलिकॉप्टर, दिल्ली की फर्म ने खरीदे

Posted by - September 20, 2018 0
बेंगलुरु। बैंकों से कर्ज लेकर देश से फरार हुए शराब कारोबारी विजय माल्या के दो हेलिकॉप्टर नीलाम कर दिए गए हैं।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *