NRC का फाइनल ड्राफ्ट जारी, असम में रहने वाले 41 लाख लोग घुसपैठिया !

73 0

गुवाहाटी। नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (एनआरसी) का फाइनल ड्राफ्ट जारी कर दिया दिया गया है। इस ड्राफ्ट में असम में रहने वाले 3.29 करोड़ में से 2.89 करोड़ लोगों के ही नाम हैं। ऐसे में करीब 41 लाख लोग अवैध घुसपैठिया बन गए हैं।

सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में बना है रजिस्टर

एनआरसी के आंकड़े सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में तैयार कराए गए हैं। इससे पहले 1.19 करोड़ असमिया लोगों के नाम एनआरसी के पहले ड्राफ्ट में आए थे। एनआरसी जारी होने से पहले असम के 7 जिलों में हिंसा की आशंका को देखते हुए 220 कंपनी सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं।

अवैध घुसपैठियों का क्या होगा ?

अवैध घुसपैठियों के भविष्य को लेकर असम सरकार ने अभी कुछ तय नहीं किया है। हालांकि, ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (आसू) और अन्य क्षेत्रीय दलों ने सभी घुसपैठियों को बांग्लादेश भेजने की मांग की है।

असम में रजिस्टर ऑफ सिटिजन को लेकर तनाव, 7 जिलों में सुरक्षा कड़ी

कौन माना जाएगा घुसपैठिया ?

असम में 24 मार्च 1971 की आधी रात तक प्रवेश करने वालों के अलावा बाकी सभी को बांग्लादेशी घुसपैठिया माना जाएगा। इस बारे में 1985 में केंद्र सरकार और असम सरकार के बीच एक समझौता हुआ था। 1951 में असम का पहला सिटिजन रजिस्टर बना था। उस वक्त असम की आबादी 50 लाख थी।

Related Post

यहां ऑर्डर करेंगे चाय-कॉफी तो साथ में परोसा जाएगा सांप और अजगर, लोग लेते हैं selfie

Posted by - September 21, 2018 0
नोम पेन्ह। जरा सोचिए अगर चाय-कॉफी ऑर्डर करने पर आपको कैफे में उसके साथ सांप और अजगर भी परोस दिया जाए…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *