केंद्रीय मंत्री गडकरी ने सांसद ज्योतिरादित्य से मांगी माफी, जानिए क्यों

193 0
  • ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लोकसभा में दिया था विशेषाधिकार हनन का नोटिस

नई दिल्ली केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को गुना से लोकसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से माफी मांगी। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने माफी मांगने के बाद स्वीकार किया कि यह नहीं होना चाहिए था।

क्‍या था मामला ?

दरअसल, ज्योतिरादित्य सिंधिया के लोकसभा क्षेत्र में 23 जुलाई को एक राजमार्ग का उद्घाटन होना था। इस समारोह के लिए जो आमंत्रण पत्र छपवाए गए थे, उनमें ज्‍योतिरादित्‍यय का नाम नहीं था।  यही नहीं, उन्हें समारोह में आमंत्रित भी नहीं किया गया था। इससे नाराज होकर ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने लोकसभा अध्यक्ष को विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था। बता दें कि उस उद्घाटन समारोह में नितिन गडकरी मौजूद थे। ज्‍योतिरादित्‍य ने कहा कि आमंत्रण पत्र में मुख्यमंत्री और राज्य सरकार के सारे लोगों के नाम थे, लेकिन उनका नाम नहीं था। सिंधिया ने कहा कि स्थानीय सांसदों को प्रोटोकॉल के तहत ऐसे कार्यक्रमों में आमंत्रित किया जाना चाहिए।

क्‍या कहा गडकरी ने ?

ज्‍योतिरादित्‍य के प्रस्‍ताव के बाद सदन में शोरगुल और हंगामा होने लगा। इसी शोरगुल के बीच गडकरी ने कहा, ‘आमंत्रण पत्र में उनका (सिंधिया का) नाम नहीं था। यह मेरी जिम्मेदारी है क्योंकि मैं विभाग का मंत्री हूं।  मैं स्वीकार करता हूं कि एमपी (सांसद) आए या ना आए, उनका नाम आमंत्रण पत्र में रखना चाहिए था। सभी लोगों की तरफ से मैं माफी मांगता हूं और यह दोबारा नहीं होगा।’

जवाब से संतुष्‍ट नहीं हुए सिंधिया

गडकरी के जवाब से कांग्रेस सांसद सिंधिया संतुष्ट नहीं हुए। उन्‍होंने कहा कि सांसदों के हितों की रक्षा होनी चाहिए और इस गलती के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए, क्योंकि यह मामला एक सांसद के विशेषाधिकार हनन का मामला है। सिंधिया के शांत नहीं होने पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने मध्यस्थता करते हुए कहा, ‘संरक्षण देने के लिए क्या मुझे एक लट्ठ लेके देना चाहिए। मैं गडकरी जी की प्रशंसा करूंगी कि उन्होंने माफी मांगी लेकिन दूसरे पक्ष का व्यवहार प्रशंसनीय नहीं है।’

कांग्रेस और भाजपा सांसद भिड़े

गडकरी के जवाब के बाद भी कांग्रेस सदस्य शांत नहीं हुए। सदन में हंगामे के बीच कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया और मध्य प्रदेश के सतना से भाजपा सांसद गणेश सिंह व ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बीच तीखी नोकझोंक हुई। वहीं सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि सभी के साथ यदि इसी ढंग से व्यवहार किया जाएगा, तो यह ठीक नहीं है।

Related Post

सोनिया गांधी से मिलीं ममता, कहा – क्षेत्रीय दलों का समर्थन करे कांग्रेस

Posted by - March 28, 2018 0
बोलीं – मैं चाहती हूं भाजपा के खिलाफ सिर्फ एक प्रत्‍याशी खड़ा हो, जिसे सभी पार्टियां समर्थन दें ममता बोलीं…

शमी पर पत्नी ने दर्ज कराया रेप और हत्या की कोशिश का केस

Posted by - March 10, 2018 0
मोहम्‍मद शमी के आईपीएल खेलने पर भी गहराया संकट, दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स जल्‍द करेगी फैसला नई दिल्‍ली। कोलकाता पुलिस ने क्रिकेटर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *