लखनऊ की सड़कों पर इस वजह से मर्द और औरतें अचानक मुंडवाने लगे सिर

155 0

लखनऊ .लखनऊ में आज बुधवार को शिक्षक/शिक्षामित्र एसोशिएसन के बैनर तले नियुक्ति की मांग को लेकर आलमबाग के पास इकोगार्डन में पिछले  69 दिन से धरना दे रहे और आज ये शिक्षामित्रों ने अपने आन्दोलन को और बढ़ाया.

शिक्षामित्रों ने अपने आन्दोलन को तेज करते हुए अपना सर मुडवा दिया. सर मुडवाने की इस मुहीम पुरुषों के साथ शिक्षामित्र महिलाओं ने भी हिस्सा लिया.

सरकार की लगातार उदासीनता से खफा एसोशिएसन की अध्यक्ष उमादेवी समेत दो दर्जन से अधिक पुरुष/महिला शिक्षामित्रों ने  सिर मुड़वाकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।  इतना ही नहीं उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार ने उनकी  मांगों पर अनदेखा कर रही है।

वही  शिक्षामित्रों ने शहीद हुए प्रदेशभर के शिक्षामित्रों को श्रंद्धांजलि दी। इसमें दूसरे पहर तपन,श्राद किया। शिक्षामित्रों हाथो में तिरंगा लिए हक की मांग को धरना स्थल से बाहर इकोगार्डन गेट पहुंच गए।,नारेबाजी करके विरोध जताया।

शिक्षामित्रों ने कहा महिलाओ के अपमान के बाद भी सरकार नही मानती है। तो करो या मरो की नीति अपनाई जाएगी। गेट पर पहुंचे एसीएम तृतीय ब्रजेन्द्र कुमार ने समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। वरिष्ठ उपाध्यक्ष सन्तोष दुबे का कहना है। सरकार नही चेती विरोध-प्रदर्शन तेज होगा।

 

 शिक्षामित्रों  की मांग:-

1-आरटीई एक्ट 2009 के तहत पूर्ण शिक्षक का दर्जा और वेतनमान

2- उत्तराखण्ड के अनुसार टेट उतीर्ण करने छूट मिले।

3- जो टेट उतीर्ण है उन्हें बिना लिखित परीक्षा उम्र और अनुभव का भारांक पर नियमित किया जाय।

4- असमायोजित शिक्षामित्रों को समान कार्य-समान वेतन दिया जाय।

5- मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता व एक सदस्य को योग्यता के मुताबिक नौकरी।

Related Post

केंद्रीय मंत्री के बिगड़े बोल, कहा – रेप की एक-दो घटनाओं पर बात का बतंगड़ न बनाएं

Posted by - April 22, 2018 0
संतोष गंगवार बोले – ऐसी घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण, मगर इतने बड़े देश में कभी-कभी उन्‍हें रोका नहीं जा सकता बरेली। कठुआ…

चीनी मीडिया ने माना, साल 2017 में भाजपा के लिए बेहतर रहा ब्रांड मोदी

Posted by - December 28, 2017 0
चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ नई दिल्ली। सीमा विवाद और आतंकवाद…

सुप्रीम कोर्ट ने कहा – दागी नेताओं की सुनवाई के लिए स्पेशल कोर्ट बने

Posted by - November 1, 2017 0
नई दिल्ली :देश की सबसे बड़ी अदालत में चुनाव आयोग ने सजायाफ्ता सांसदों-विधायकों के चुनाव लड़ने पर आजीवन प्रतिबंध की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *