हाथ-पैर बार-बार सुन्न हों तो हो जाएं सावधान !

1529 0

लखनऊ। कुछ देर तक एक ही अवस्था में बैठे रहने से कई बार हाथ-पैरों में एक अजीब तरह की झुनझुनी सी चढ़ जाती है और हाथ-पैर जैसे सुन्‍न हो जाते हैं। ऐसा लगता है जैसे हाथों और पैरों में सैकड़ों चींटियां रेंग रही हों। इसे ‘हाथ-पैर का सो जाना’  भी कहते हैं। ऐसी स्थिति में आप अपने हाथ-पैर हिला-डुला नहीं पाते। लेकिन क्‍या आप जानते हैं ऐसा होता क्यों है ?  यह सामान्‍य प्रक्रिया है या क्या किसी बीमारी का संकेत है?

क्‍यों होता है ऐसा ?

असल में एक ही मुद्रा में देर तक बैठे रहने या सोने से कुछ नसें दब जाती हैं। इस कारण हाथ-पैर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन  नहीं मिल पाती। ऑक्सीजन के अभाव में ये अंग बचाव की मुद्रा में आ जाते हैं और सिर्फ बहुत ज़रूरी काम ही करते हैं। शरीर के किसी भी अंग में होने वाली सुन्नता का पता मस्तिष्क को भी चल जाता है  और मस्तिष्क झनझनाहट का सिग्नल भेज कर शरीर को हिलने-डुलने के लिए बाध्य करता है। तभी हमें हाथ-पैरों में सुन्‍नता या झुनझुनी महसूस होती है। हालांकि यह स्थिति बहुत देर तक नहीं रहती और थोड़ा हिलने-डुलने या चलने-फिरने से जल्‍दी ही हम सामान्‍य हो जाते हैं।

बार-बार ऐसा होना बीमारी का संकेत

आमतौर पर हाथ या पैर का सुन्न होना सामान्य-सी बात है, लेकिन यदि सुन्नता लंबे समय तक बनी रहे  या फिर दिन में कई-कई बार हाथ-पैर सुन्न पड़ने लगें या झनझनाहट खत्म होने में बहुत अधिक समय लग रहा हो तो खुद अपने डॉक्‍टर न बनें। ऐसे में किसी चिकित्‍सक से संपर्क करना जरूरी है। वास्‍तव में अगर ऐसा बार-बार होने लगे तो यह किसी बीमारी का संकेत होता है।

टाइप-2 डायबिटीज की आशंका

वैसे तो बार-बार पेशाब आना, अधिक प्यास लगना और ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ना डायबिटीज के लक्षण होते हैं। लेकिन जब व्यक्ति को टाइप-2 डायबिटीज हो जाती है और उसका इलाज ना किया जाए तो उससे हाथों के सुन्न होने की समस्या शुरू हो जाती है। डॉक्‍टरों का मानना है कि एक तिहाई मामलों में हाथ-पैर में झनझनाहट या सुन्‍नता की वजह होती है डायबिटीज, इसीलिए डॉक्टर भी सबसे पहले डायबटीज का ही टेस्ट करते हैं।

विटामिन बी12 की कमी

सामान्यत: एक बार में एक ही हाथ सुन्‍न होता है, लेकिन अगर एक साथ आपके दोनों हाथ सुन्‍न हो जा रहे हैं  तो यह इस बात का संकेत है आपके शरीर में विटामिन बी12  की कमी है। ऐसे में डॉक्टर खून की जांच कर पता लगाते हैं कि विटामिन की मात्रा कितनी कम है। इसमें इलाज के दौरान विटामिन सप्लीमेंट दिए जाते हैं।

और कौन-कौन सी बीमारियों की आशंका

कभी-कभी झनझनाहट और सुन्नता स्लिप डिस्क, मल्टीपल स्क्लेरोसिस के कारण भी होती है। इनके अलावा भी कुछ बीमारियां आपको हो सकती हैं। आइए जानते हैं ये बीमारियां कौन सी हैं –

कार्पल टनल सिंड्रोम या टेंडीनाइटिस : अगर आपका काम ऐसा है जिसमें आपको दिन भर कंप्यूटर के सामने बैठे रहना पड़ता है  तो इससे आपकी कलाई की नस पर बुरा असर पड़ सकता है। इसका नतीजा कार्पल टनल सिंड्रोम के रूप में सामने आता है। इसे ‘टेंडीनाइटिस’ भी कहते हैं। इस बीमारी का शुरुआती संकेत होता है हाथ का सुन्‍न हो जाना। अल्ट्रासाउंड के जरिए इसका पता लगाया जाता है।

सर्वाइकल : रीढ़ की हड्डी के खराब होने से गर्दन के आसपास की नसों पर दबाव बनता है। ऐसे में सर्वाइकल की समस्या शुरू हो जाती है। इससे भी हाथ पैर सुन्‍न होने लगते हैं। एमआरआई या फिर सीटी स्कैन के जरिए इस बीमारी का पता लगाया जा सकता है।

थायरॉइड : शरीर में थायरॉइड की मात्रा जरूरत से ज्यादा हो या कम, दोनों ही स्थितियों में इससे परेशानी होती है। इससे थकावट होने लगती है, वजन बढ़ने लगता है  और बाल गिरने लगते हैं। इसका एक लक्षण हाथ और पैरों का सुन्‍न होना भी है। ब्लड टेस्ट से इसका पता लगाया जा सकता है।

कुछ और कारक भी हैं जिनकी वजह से हाथ-पैरों में सुन्‍नता या झनझनाहट महसूस हो सकती है –

बहुत ज्यादा शराब : अल्कोहल का इस्तेमाल अगर जरूरत से ज्यादा किया जाए  तो यह लिवर को तो खराब करता ही है,  साथ ही नसों पर ही बुरा असर डालता है। यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की रिसर्च के मुताबिक, जितने लोग अधिक मात्रा में अल्कोहल का सेवन करते हैं, उनमें शरीर के कई हिस्सों के सुन्न होने की समस्या होती है। इसमें हाथ-पैर सुन्न हो जाते हैं और मसल्स, लिम्ब में झनझनाहट सी महसूस होती है। इसके अलावा ज्यादा शराब पीने वाले लोगों में विटामिन की कमी भी हो जाती है। इसके कारण भी हाथ-पैर सोने लगते हैं।

चोट या हादसा : हमारा ध्यान हमेशा बाहरी चोट पर जाता है क्योंकि वह दिखाई देती है, लेकिन अगर ध्यान ना दिया जाए तो अंदरूनी चोट ज्यादा खतरनाक साबित हो सकती है। किसी हादसे के दौरान किसी नस पर चोट लगने से वह खराब हो सकती है। ऐसी अवस्‍था में भी हाथ-पैर सुन्‍न हो सकते हैं।

Related Post

यूएस ने पाक को सौंपी 75 आतंकियों की सूची, हाफिज सईद का नाम नहीं

Posted by - October 26, 2017 0
इस्लामाबाद। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने बुधवार को कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान को 75 आतंकियों की सूची सौंपी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *