सेलेक्शन के लिए लड़कियां मांगते थे IPL चेयरमैन राजीव शुक्ला के असिस्टेंट !

121 0
  • युवा क्रिकेटर राहुल शर्मा ने राजीव शुक्‍ला के एक्‍जीक्‍यूटिव असिस्‍टेंट पर लगाए गंभीर आरोप

नई दिल्‍ली। यूपी के एक युवा क्रिकेटर ने आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्‍ला के एक्‍जीक्‍यूटिव असिस्‍टेंट मो. अकरम सैफी पर बड़ा ही गंभीर और सनसनीखेज आरोप लगाया है। इस क्रिकेटर का कहना है कि यूपी स्‍टेट टीम में खेलने के एवज में उससे ‘कॉलगर्ल’ का इंतजाम करने को कहा गया। यह आरोप सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन में हंगामा मच गया है।

क्या है मामला ?

दरअसल, एक हिन्‍दी न्‍यूज चैनल ने स्टिंग ऑपरेशन में यह दावा किया है। इसके अनुसार, यूपीसीए के पूर्व सेक्रेटरी और मौजूदा आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला के एग्जीक्यूटिव असिस्टेंट मोहम्मद अकरम सैफी पर युवा क्रिकेटर राहुल शर्मा ने ने आरोप लगाया है कि सेलेक्शन के लिए उनसे लड़की की मांग की गई। इतना ही नहीं, नवोदित क्रिकेटर राहुल शर्मा ने कथित रूप से यह आरोप भी लगाया कि अकरम बीसीसीआई के एज-ग्रुप टूर्नामेंट में खेलने के लिए खिलाडि़यों को उम्र का जाली सर्टिफिकेट देने का प्रबंध भी करते हैं। इस बारे में एक न्यूज चैनल ने एक ऑडियो टेप भी जारी किया है। इसमें एक शख्स लड़की को होटल भेजने की बात कह रहा है, जिसे सैफी बताया गया है। यही नहीं, उस न्यूज चैनल पर कुछ अन्य क्रिकेटरों ने भी सैफी पर टीम में सेलेक्ट करने के लिए रिश्वत मांगने का आरोप भी लगाया।

क्‍या बोले यूपीसीए के सीईओ और सेक्रेटरी ?

उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (UPCA) के सीईओ दीपक शर्मा और सचिव युद्धवीर सिंह ने इन आरोपों को पूरी तरह मनगढ़ंत बताते हुए इसे सिरे से खारिज किया है। दीपक शर्मा ने कहा कि उनके सामने अब तक ऐसी कोई बात नहीं आई है। वहीं, सेक्रेटरी युद्धवीर सिंह का कहना है कि इस नाम का कोई भी लड़का उनकी लिस्ट में ही नहीं है। हालांकि, हमने इस बारे में बीसीसीआई को जानकारी दे दी है। हम इसकी जांच के लिए तैयार हैं।

मामले की जांच की मांग

भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी और यूपी के पूर्व कप्तान मोहम्मद कैफ ऐसे आरोपों से स्तब्ध हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश क्रिकेट में भ्रष्टाचार के स्तर से स्तब्ध हूं। युवा खिलाड़ियों से घूस मांगकर उनके कौशल को प्रभावित किया जा रहा है। इसकी जांच होनी चाहिए।’  दूसरी ओर, कुछ युवा क्रिकेटरों का भी कहना है लगाए गए आरोप बहुत गंभीर हैं, इसकी जांच होनी ही चाहए। उनका कहना है कि यूपीसीए दूध का धुला नहीं है। अधिकारी टीम सिलेक्शन में मनमानी करते हैं।

यूपीसीए में है अकरम का प्रभाव

बता दें कि मोहम्‍मद अकरम सैफी का उत्‍तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन में अच्‍छा प्रभाव माना जाता है। हालांकि अकरम यूपी क्रिकेट एसोसिएशन में किसी पद पर नहीं हैं लेकिन स्टिंग में शामिल क्रिकेटर्स का कहना है कि पर्दे के पीछे अकरम की बड़ी भूमिका होती है। उधर, इस संबंध में अकरम ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में कहा कि ये सारे आरोप निराधार हैं और उनको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।

Related Post

प्रद्युम्न हत्‍याकांड में ट्विस्‍ट : स्‍कूल के ही सीनियर छात्र ने की थी मासूम की हत्‍या

Posted by - November 8, 2017 0
जुवेनाइल जस्टिस कोर्ट ने आरोपी छात्र को तीन दिन की सीबीआई हिरासत में सौंपा परीक्षा और पैरेंट्स-टीचर्स मीटिंग (पीटीएम) टलवाने…

OMG : रात में लिये सात फेरे और सुबह आशिक संग हुई फरार

Posted by - May 11, 2018 0
बाराती सुबह तक दुल्हन की विदाई की प्रतीक्षा करते रहे, बिन दुल्हन बैरंग लौटे दूल्हे राजा                शिवरतन कुमार गुप्ता ‘राज़’…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *