यूपी, गुजरात और बिहार में दलित और मुसलमान असुरक्षित : AMNESTY

71 0

नई दिल्ली। विपक्ष आरोप लगाता है कि बीजेपी की सरकारों के दौर में देश में Hate Crimes बढ़े हैं। इस आरोप को बीजेपी हमेशा झूठा बताती है, लेकिन मानव अधिकारों की पैरवी करने वाले संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल के इंडिया चैप्टर की रिपोर्ट विपक्ष के आरोपों की तस्दीक कर रही है।

क्या कहती है एमनेस्टी की रिपोर्ट ?

एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 के बीते 6 महीने में देश में  Hate Crimes की 100 घटनाएं हुईं। इनका शिकार दलित, आदिवासी, अल्पसंख्यक और ट्रांसजेंडर बने।

यूपी टॉप पर, गुजरात नंबर 2 पर

एमनेस्टी की रिपोर्ट के अनुसार  Hate Crimes की 18 घटनाओं के साथ यूपी सबसे टॉप पर है, जबकि  13 घटनाओं के साथ गुजरात नंबर दो,  8 घटनाओं के साथ राजस्थान नंबर तीन और 7-7  घटनाओं के साथ बिहार और तमिलनाडु तीसरे नंबर पर  हैं।

निशाने पर दलित और मुसलमान

एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 2018 के पहले 6 महीनों में  Hate Crimes की घटनाएं खास तौर पर दलितों और मुसलमानों के खिलाफ हुईं। दलितों के खिलाफ Hate Crimes की 67 और मुसलमानों के खिलाफ 22 घटनाएं हुई हैं। सबसे ज्यादा मामले गोकशी के शक में हिंसा और ऑनर किलिंग से जुड़े हैं। यूपी के पश्चिमी इलाके इन मामलों में सबसे ज्यादा संवेदनशील बताए गए हैं।

Related Post

जस्टिस जोसेफ प्रकरण : कोलेजियम बैठक से पहले जस्टिस चेलमेश्वर छुट्टी पर गए

Posted by - May 2, 2018 0
जस्टिस केएम जोसेफ की सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति को लेकर बुधवार को होनी है कोलेजियम की अहम बैठक नई दिल्‍ली। लगता…

शोपियां फायरिंग : सुप्रीम कोर्ट पहुंचा सेना के खिलाफ एफआईआर का मामला

Posted by - February 8, 2018 0
मेजर आदित्य के पिता ने एफआईआर खारिज करने की मांग को लेकर दायर की याचिका नई दिल्ली। शोपियां में मुठभेड़…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *