PM की रैली में पंडाल गिरा, 24 घायल, एसपीजी जवानों को मदद के लिए भेजा

87 0
  • पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में हो रही थी रैली, घायलों को देखने अस्पताल पहुंचे प्रधानमंत्री

कोलकाता​। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोमवार (16 जुलाई) को पश्चिम बंगाल के मिदनापुर के कॉलेज ग्राउंड में हुई किसान रैली के दौरान पंडाल का एक हिस्सा गिर गया। पीएम के भाषण के दौरान हुए इस हादसे में 24 लोगों के घायल होने की खबर है। मोदी ने जैसे ही पंडाल गिरते देखा, उन्‍होंने अपना भाषण रोक दिया और अपनी सुरक्षा में लगे एसपीजी जवानों को फौरन मदद के लिए भेजा। बताया जा रहा है कि मिट्टी गीली होने की वजह से यह हादसा हुआ। यहां सुबह से ही रुक-रुककर बारिश हो रही थी।

अस्‍पताल पहुंच घायलों का लिया हालचाल

बताया जा रहा है कि रैली स्थल पर चिकित्सा के पुख्ता बंदोबस्त नहीं थे। पीएम के काफिले में तैनात एम्बुलेंस से ही घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। रैली खत्म होने के बाद पीएम मोदी खुद अस्पताल पहुंचे और घायलों का हालचाल लिया। एक घायल युवती को दिलासा देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा – ‘बहुत हिम्मत है बेटा तुम्हारे में। अगर हिम्मत रहेगी तो तुम एकदम ठीक हो जाओगी।’ पीएम  मोदी  जब दूसरी घायल युवती के पास हालचाल लेने पहुंचे तो उसने प्रधानमंत्री से ऑटोग्राफ मांगा। इसके बाद प्रधानमंत्री ने उसे ऑटोग्राफ भी दिया। हालांकि हादसे के बाद सुरक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर सवाल भी उठ रहे हैं। पूछा जा रहा है कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में इस तरह की ढुलमुल तैयारी क्यों की गई ? सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध क्यों नहीं किए गए ?

अस्पताल पहुंचे पीएम मोदी ने एक घायल महिला को मांगने पर ऑटोग्राफ भी दिया

पीएम ने टीएमसी पर साधा निशाना

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने किसान रैली में तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ ही वामपंथी दलों पर भी निशाना साधा। मोदी ने कहा,  ‘वामपंथी शासन ने पश्चिम बंगाल को जिस हाल में पहुंचाया, आज बंगाल की हालात उससे भी बदतर होती जा रही है। माटी और मानुष की बातें करने वालों की असलियत अब सामने आ गई है। ये लोग सिंडिकेट बनाकर आपको लूट रहे हैं। ये सिंडिकेट जबरन वसूली कर रहा है। किसानों का हक छीन रहा है। आज पश्चिम बंगाल का आम नागरिक सामान्य जीवन मुश्किल से जी रहा है। यहां पूजा भी मुश्किल में है। सिंडिकेट की मर्जी के बिना पश्चिम बंगाल में कुछ भी करना मुश्किल है। पश्चिम बंगाल की सरकार आपके लिए काम नहीं कर रही है।’

Related Post

ऑनर किलिंग पर सुप्रीम कोर्ट सख्त , कहा – दो बालिगों की शादी में दखल न दें

Posted by - February 5, 2018 0
गैरसरकारी संगठन शक्ति वाहिनी की याचिका पर सुनवाई में सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने की तीखी टिप्‍पणी नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *