OMG : एक आदमी की मौत का बदला लेने को ग्रामीणों ने मार डाले 300 मगरमच्छ

474 0
  • इंडोनेशिया के वेस्ट पापुआ प्रांत  के सोरोंग जिले में हुई घटना, मगरमच्छों के एक फार्म पर किया हमला

जकार्ता। इंडोनेशिया में मगरमच्छ का शिकार बने एक व्यक्ति की मौत का बदला लेने के लिए गुस्साई भीड़ ने ऐसा कदम उठाया, जिसे सुनकर आप दहल जाएंगे। बदले की आग में गुस्‍साए ग्रामीणों ने करीब 300 मगरमच्छों को मार डाला। यह घटना शनिवार (14 जुलाई) को इंडोनेशिया के वेस्ट पापुआ प्रांत के सोरोंग जिले में हुई। वहां की अंतारा एजेंसी ने इसके कुछ फोटो जारी किए हैं जिनमें मगरमच्छों के शवों का विशालकाय ढेर दिखाई दे रहा है।

क्‍यों उठाया यह कदम ?

पुलिस और संरक्षण अधिकारियों ने बताया कि 48 साल का सुगिटो अपने पशुओं के लिए चारा काटने गया था, इसी दौरान वह पास में ही प्राकृतिक संसाधन संरक्षण एजेंसी के मगरमच्छों के एक फार्म में गिर गया। मगरमच्‍छों ने उसके ऊपर हमला कर दिया और उसे मार डाला। सुगिटो का अंतिम संस्‍कार करने के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए और सैकड़ों की संख्‍या में हाथों में चाकू, तलवार, फावड़ा और लाठियां मगरमच्छों के फार्म पर हमला कर दिया। गुस्‍साए ग्रामीणों ने फार्म के कुल 292 मगरमच्छ मार डाले। मगरमच्छों को मारने के बाद गांववालों ने एक जगह पर उनके शवों का ढेर लगा दिया।

मुआवजा देने को तैयार था फार्म

अधिकारियों ने बताया कि आवासीय इलाके के पास फार्म की मौजूदगी को लेकर गुस्साए सुगिटो के रिश्तेदार और स्थानीय निवासी स्थानीय पुलिस के पास पहुंचे थे। स्थानीय संरक्षण एजेंसी के प्रमुख बसर मनुलांग के अनुसार, उन्हें बताया गया था कि फार्म मुआवजा देने को तैयार है, लेकिन इसके बावजूद अंसतुष्ट भीड़ चाकू, छुरा और खुरपा लेकर फार्म पहुंच गई और 4 इंच के बच्चों से लेकर दो मीटर तक के 292 मगरमच्छों को मार डाला। पुलिस इस भीड़ को रोक पाने में नाकाम रही। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है और इस मामले में आपराधिक आरोप भी तय किए जा सकते हैं।

संरक्षित जीव हैं मगरमच्‍छ

पश्चिम पापुआ प्राकृतिक संसाधन संरक्षण एजेंसी के प्रमुख बसार मनुलांग ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा ‘मगरमच्छ की हत्या दूसरों की संपत्ति को नष्ट करने के कानून का उल्लंघन है।’ उन्होंने बताया कि इस फार्म के लिए बाकायदा सरकार ने लाइसेंस जारी किया था। इनमें कुछ रेपिटाइल की संरक्षित प्रजातियाँ भी थीं। बता दें कि इंडोनेशिया द्वीपसमूह में मगरमच्छों की कई प्रजातियों समेत विभिन्न वन्यजीव पाए जाते हैं। मगरमच्छों को यहां संरक्षित जीव माना जाता है।

Related Post

रिसर्च : गर्म पानी के प्राकृतिक स्रोत में नहाने से मिलती है बीमारियों में राहत

Posted by - November 22, 2018 0
न्यूयॉर्क। जानकारों का कहना है कि ठंडे पानी की अपेक्षा गुनगुने या गर्म पानी से नहाना ज्‍यादा लाभदायक होता है।…

ग्लोबल वॉर्मिंग के साथ बढ़ रही हैं मानसिक बीमारियां, रिसर्च से हुआ खुलासा

Posted by - October 9, 2018 0
मैसाचुसेट्स। अमेरिका की मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) और हारवर्ड यूनिवर्सिटी ने रिसर्च में पाया है कि ग्लोबल वॉर्मिंग बढ़ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *