जानकर दंग रह जाएंगे, लाखों साल बाद आपके वंशज हो जाएंगे ऐसे

141 0

लंदन। हम सब अपने बेटे या बेटी को देखकर कितना खुश होते हैं। जब वो पैदा होता है, तो कयास लगाते हैं कि बच्चा मां पर गया है या बाप पर। मामा जैसा दिखने में है या दादी जैसा, लेकिन ठहरिए। आज से लाखों साल बाद ये सब नहीं सोचा जाएगा। क्योंकि हमारे वंशज वो रूप धारण करेंगे, जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे।
 
दिमाग में लगेगी चिप ?
डेनमार्क की आरहुस यूनिवर्सिटी के बायो इन्फॉर्मेटिक्स विभाग में एसोसिएस प्रोफेसर थॉमस मेयलुंड के मुताबिक इंसान पहले शिकार करते थे। करीब 10 हजार साल पहले उन्होंने खेती करना भी सीखा। अब जमाना तकनीक का है, तो आज से लाखों साल बाद इंसान पूरी तरह तकनीक से लैस जिंदा रोबॉट जैसा हो जाएगा। प्रोफेसर मेयलुंड के मुताबिक शायद उस वक्त दिमाग में कोई इम्प्लांट फिट कर दिया जाएगा, जिसमें सारे नाम, फोन नंबर और सबकुछ दर्ज रहेगा। बस एक रिमोट को ऑन करते ही हर दर्ज चीज सामने आ जाएगी।

जीन में कर सकेंगे बदलाव
भले ही आज ये विज्ञान कथा लगे, लेकिन लाखों साल बाद हम शायद उन जीन्स में बदलाव कर सकें, जिससे हमारा शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम हो जाएगा। फिलहाल इसे लेकर शोध जारी हैं। शायद ऐसी कृत्रिम आंख भी बन जाए, जो अलग-अलग रंगों को आसानी से देख सके।
 
पैदा कर सकेंगे डिजायनर बच्चे
सेलीब्रिटीज जैसा बनना हर कोई चाहता है, तो लाखों साल बाद शायद वैज्ञानिक ऐसा भी कर सकें कि किसी खास सेलीब्रिटी के चेहरे-मोहरे वाले बच्चे वो पैदा करा सकें। इन्हें डिजायनर बच्चे कहा जाएगा। प्रोफेसर मेयलुंड का कहना है कि शायद इंसान वैसा दिखेगा, जैसा उसके मां-बाप देखना चाहते हैं।
 
गोरों के मुकाबले सांवले लोगों की संख्या बढ़ेगी
ग्रैंड चैलेंजेस इन इको सिस्टम्स एंड द एनवायरनमेंट के डॉक्टर जेसन के मुताबिक अफ्रीका की जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में उनके जीन भी दुनिया में ज्यादा तेजी से बढ़ेंगे। जिन इलाकों में गोरे लोग रहते हैं, वहां प्रजनन दर कम है। ऐसे में दुनिया में सांवले लोगों की संख्या काफी ज्यादा हो जाएगी और इंसान की कई पीढ़ियों के बाद का रंग उसकी आज की पीढ़ी से गहरा होगा।

दूसरे ग्रहों में रहे तो क्या होगा ?
वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर इंसान ने दूसरे ग्रहों मसलन मंगल पर बस्तियां बसा लीं, तो वहां के कम गुरुत्वाकर्षण के कारण मांसपेशियों की बनावट बदलेगी। इससे हाथ-पैर ज्यादा लंबे हो जाएंगे। मंगल के ठंडे वातावरण की वजह से शरीर में चर्बी भी बढ़ जाएगी। शरीर को इस ठंड से बचाने के लिए इंसानी जिस्म में बाल भी बढ़ जाएंगे। यानी लाखों साल बाद इंसान उस तरह का नहीं दिखेगा, जैसा आज वो दिखता है।

Related Post

2028 तक दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा भारत : रिपोर्ट

Posted by - November 14, 2017 0
मुंबई : 2028 तक भारत तेज विकास दर के रथ पर सवार होकर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। अमेरिकी फर्म…

नेफ्यू रियो ने चौथी बार ली नगालैंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ

Posted by - March 8, 2018 0
कोहिमा के लोकल ग्राउंड में हुआ शपथ ग्रहण समारोह, अमित शाह, निर्मला सीतारमण, रिजिजू रहे मौजूद कोहिमा। नगालैंड में गुरुवार…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *