OMG : मैक्समिलियन बना बच्ची को ‘स्तनपान’ कराने वाला ‘पहला’ पुरुष

76 0

वाशिंगटन। अमेरिका के विस्कॉन्सिन में रहने वाले एक परिवार के घर खुशियां आने वाली थीं। तारीख थी 26 जून, 2018।  दरअसल उस परिवार में एक नन्हा मेहमान आने वाला था। अस्पताल की वो रात सिर्फ़ मां के लिए ही अलग नहीं थी, बल्कि पिता के साथ भी कुछ ऐसा हुआ जो उन्होंने कभी सपने में नहीं सोचा होगा। ये दंपति थे एप्रिल न्‍यूबार्स और मैक्‍समिलियन।

करानी पड़ी सीज़ेरियन डिलीवरी

एप्रिल न्यूबॉर्स की डिलीवरी सामान्य नहीं थी क्योंकि उनका ब्लड-प्रेशर बहुत ज्‍यादा था। यही नहीं, वो काफी समय से प्री-एक्लेंपसिया से पीड़ित थीं। यह बीमारी गर्भवती महिलाओं को ही होती है। ऐन मौके पर एप्रिल की हालत इतनी ख़राब हो गई कि सीज़ेरियन डिलीवरी करानी पड़ी। देर रात एप्रिल ने बेटी को जन्म दिया, उसका वजन 3.6 किलोग्राम था। बेटी का नाम रोज़ेली रखा गया। उधर, बेटी के जन्म के बाद ही एप्रिल को दूसरी समस्याएं शुरू हो गईं और उन्हें अस्पताल के दूसरे कमरे में भेज दिया गया। उन्‍हें इतना मौका भी नहीं मिला कि वो अपनी नवजात बच्ची को गोद में उठा सकें।

बच्ची को ब्रेस्टफीड कराते मैक्समिलियन

पति को कराना पड़ा ब्रेस्‍टफीड

डिलीवरी के बाद जब नर्स को बच्चे की मां नहीं मिली तो उसने रोज़ेली को उसके पिता मैक्समिलियन की गोद में दे दिया। पिता मैक्समिलियन ने एक चैनल से बातचीत में बताया, ‘एक नर्स अपनी गोद में हमारी खूबसूरत सी बेटी को लेकर आई। मैं एक जगह बैठ गया और अपनी शर्ट उतार दी ताकि मैं उसका स्पर्श महसूस कर सकूं। तभी नर्स ने कहा कि हमें बच्ची को कुछ देना पड़ेगा। कुछ नहीं तो उंगली से ही दूध पिलाना होगा, कम से कम शुरुआत तो करनी ही होगी।’

छाती पर निप्‍पल लगाकर कराया ब्रेस्‍टफीड

मैक्समिलियन ने बताया – ‘इसके बाद नर्स ने मुझसे पूछा कि क्या मैं अपनी छाती पर एक निप्पल लगाकर असल में ब्रेस्टफ़ीड कराना पसंद करूंगा। मैं इसे ट्राई करने के लिए तैयार हो गया और कहा हां, क्यों नहीं।’ इसके बाद नर्स ने एक ट्यूब की मदद से प्लास्टिक का निप्‍पल मैक्समिलियन की छाती से चिपका दिया। यह ट्यूब फॉर्मूला मिल्क से भरी एक सीरिंज से जुड़ा था। मैक्समिलियन ने कहा, ‘मैंने कभी भी ये नहीं किया था और कभी ऐसा करने के बारे में सोचा भी नहीं था। मैं किसी बच्ची को ब्रेस्टफ़ीड कराने वाला पहला शख़्स था। मेरी सास ने जब ये देखा तो उन्हें अपनी आंखों पर यक़ीन ही नहीं हुआ।’

सोशल मीडिया पर शेयर किया अनुभव

मैक्समिलियन ने अपने फ़ेसबुक अकाउंट और इंस्टाग्राम पर अपने इस अनुभव को शेयर किया है। उनकी छाती पर एक टैटू बना हुआ है जिस पर मॉम लिखा हुआ है। मैक्समिलियन कहते हैं, ‘कुछ ही समय में मुझे अपनी बेटी के साथ एक जुड़ाव महसूस होने लगा। मैंने उसे गोद में उठा रखा था और लगातार कोशिश कर रहा था कि उसे ब्रेस्टफ़ीड करने में दिक्क़त न हो।’ मैक्समिलियन का कहना है कि उन्होंने सिर्फ़ वही किया जो ऐसी स्थिति में कोई भी पिता करता। पोस्ट शेयर करने के बाद मैक्समिलियन को कई कमेंट्स भी मिले। कुछ लोगों ने उस नर्स की भी तारीफ़ की है जिसने ये विकल्प सुझाया। हालांकि कुछ ने ये भी कहा कि उन्हें एक पुरुष को ब्रेस्टफ़ीड कराते हुए देखना थोड़ा अजीब लगा। मैक्समिलियन की पोस्ट 30 हज़ार से ज़्यादा बार शेयर हुई है।

Related Post

एशियन गेम्स 2018 : 11वें दिन भारत के हुए 11 गोल्ड, ट्रिपल जंप और हेप्टाथलान में मिला सोना

Posted by - August 29, 2018 0
जकार्ता। 18वें एशियाई खेलों में 11वां दिन भारत के लिए डबल खुशियां लेकर आया। भारत ने बुधवार (29 अगस्‍त) को…

निर्मला सीतारमण के ‘सलाम-नमस्ते’ पर चीन भी फिदा, खूब हो रही तारीफ

Posted by - October 9, 2017 0
रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण का नाथूला दौरा इन दिनों सुर्खियां में बना हुआ है. चीनी सैनिकों के साथ उनके सद्भावना पूर्ण…

सोशल मीडिया पर फिटनेस मुहिम की धूम, कोहली ने दिया पीएम मोदी को चैलेंज

Posted by - May 24, 2018 0
प्रधानमंत्री मोदी ने स्वीकार किया विराट कोहली का चैलेंज, बोले – जल्द शेयर करेंगे वीडियो खेल राज्यमंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह…

गोरखपुर उपचुनाव : संगठन से जुड़े उपेंद्र दत्त शुक्ला बने भाजपा प्रत्याशी

Posted by - February 19, 2018 0
2005 में कौड़ीराम उपचुनाव में टिकट नहीं मिलने पर बागी हो गए थे उपेंद्र, बाद में लौटे संगठन में गोरखपुर।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *