facebook को डाटा लीक मामले में बड़ा झटका, लगा 5 लाख पाउंड का जुर्माना

83 0

लंदन। सोशल मीडिया वेबसाइट कंपनी फेसबुक को बुधवार (11 जुलाई) को बड़ा झटका लगा है। जांच में लोगों की निजी जानकारी कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी को देने के दोषी पाए गए फेसबुक पर ब्रिटेन में 5 लाख पाउंड का जुर्माना लगाया गया है। ब्रिटिश संसद की मीडिया समिति ने इस मामले की जांच की थी। यह ब्रिटेन के डाटा प्रोटेक्‍शन लॉ के तहत सबसे अधिक जुर्माना है। 

क्‍या कहा जांच समिति ने ?

ब्रिटिश संसद की मीडिया समिति के चेयरमैन डैमियन कोलिन्स ने बताया कि फेसबुक पर यह जुर्माना इसलिए लगाया गया क्‍योंकि वह यूजर्स की जानकारी सुरक्षित रखने में असफल रहा। उन्होंने कहा कि अब  फेसबुक को जल्द ही अपनी आंतरिक जांच की रिपोर्ट सूचना आयुक्त कार्यालय, ब्रिटिश संसद की मीडिया समिति और अन्य संबंधित जांच प्राधिकरणों के समक्ष पेश करना चाहिए।

अधिकतम जुर्माने का नोटिस देने की तैयारी

बता दें कि डाटा लीक की यह घटना सामने आने के बाद से ही फेसबुक इस वर्ष काफी चर्चा में रहा ​है। इन्‍फॉर्मेशन कमिश्‍नर ऑफिस (आईसीओ) शुरू से ही इस मामले की जांच कर रहा है। शुरुआती जांच में पता चला था कि  एक ऐप के जरिए दुनियाभर में करोड़ों फेसबुक यूजर्स के डाटा लीक किए गए थे। इसके बाद से जांच एजेंसियां सतर्क हुईं और मामले की गहराई से पड़ताल की गई। उधर, एक प्रोग्रेस रिपोर्ट में बुधवार को ब्रिटिश डाटा रेग्‍युलेटर ने कहा कि वह फेसबुक को डाटा प्रोटेक्‍शन एक्‍ट के तहत डाटा चोरी में लगाए जाने वाले अधिकतम जुर्माने का नोटिस जारी करने की तैयारी में है।

निर्धारित कानून का उल्‍लंघन किया

गौरतलब है कि फेसबुक पर यह आरोप भी लगा था कि उसने निर्धारित कानून का उल्लंघन किया। आईसीओ की जांच में पता चला था कि फेसबुक लोगों की जानकारियों को सुरक्षा उपलब्ध कराने में विफल रहा और इस तरह उसने तय कानून का उल्लंघन किया। यही नहीं,  ट्रांसपरेंसी के मामले में भी फेसबुक विफल रहा जिसके कारण यूजर्स के डाटा दूसरे लोगों ने चोरी कर लिए।

8.7 करोड़ यूजर्स का डाटा हुआ था लीक

फेसबुक यह स्‍वीकार कर चुका है कि ब्रिटिश कंसल्टेंसी फर्म कैंब्रिज एनॉलिटिका की तरफ से 8.7 करोड़ यूजर्स का डाटा लीक होने की संभावना है। कैंब्रिज एनॉलिटिका 2016 में हुए अमेरिकी चुनाव में मौजूदा राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प के कैम्पेन के लिए काम कर रही थी। हालांकि, कैंब्रिज एनॉलिटिका ने इन आरोपों से इनकार किया है और उसने अमेरिका और ब्रिटेन में स्वैच्छिक बैंकरप्सी के लिए आवेदन किया है।

Related Post

पीएनबी महाघोटाला : कांग्रेस ने मोदी-जेटली तो भाजपा ने राहुल-सिंघवी को घेरा

Posted by - February 17, 2018 0
कपिल सिब्‍बल ने ली चुटकी, बोले – चौकीदार सोता रहा और चोर भाग गया निर्मला सीतारमण बोलीं – नीरव मोदी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *