निर्भया गैंगरेप केस : ये हैं इस बर्बर कांड से जुड़ीं अहम तारीखें

181 0

नई दिल्ली। 16 दिसंबर, 2012 की उस सर्द रात में दिल्ली में सफेद रंग की एक बस में 6 लोगों ने निर्भया के साथ गैंगरेप ही नहीं किया, बल्कि उससे हैवानियत की हदें पार करते हुए प्राइवेट पार्ट्स में लोहे की रॉड तक डाल दी गई। इस मामले में एक आरोपी राम सिंह की जेल में ही मौत हो चुकी है। एक नाबालिग आरोपी सजा पूरी कर छूट चुका है और बाकी को सबसे ऊंची अदालत पहले ही मौत की सजा सुना चुकी है।

आइए, आपको बताते हैं कि देश को हिला देने वाले निर्भया गैंगरेप से जुड़ी अहम तारीखों पर क्या-क्या हुआ – 

  • 5 मई 2017 : सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों की फांसी की सजा बरकरार रखी।
  • 2 जून 2014 : दो आरोपियों ने दिल्ली HC के फैसले को SC में चुनौती दी।
  • 13 मार्च 2014 : दिल्ली HC ने चारों आरोपियों की फांसी की सजा बरकरार रखी।
  • 7 अक्टूबर, 2013 : निचली अदालत से सजा पाए चार दोषियों में विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर ने सजा के खिलाफ दिल्ली HC में अपील की
  • 10 सितंबर 2013 : 4 आरोपियों को 13 मामलों में दोषी पाया गया। 13 सितंबर को मुकेश, विनय शर्मा, पवन गुप्ता और अक्षय ठाकुर को सजा-ए-मौत सुनाई गई।
  • 11 जुलाई 2013 : नाबालिग रेप का दोषी करार दिया गया और उसे 3 साल के लिए बाल सुधार गृह भेजा गया।
  • 21 मार्च 2013 : एंटी-रेप कानून पर मुहर लगी और रेप के लिए फांसी की सजा का प्रावधान किया गया।
  • 11 मार्च 2013 : आरोपी रामसिंह ने तिहाड़ जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या की।
  • 13 जनवरी 2013 : दिल्ली की साकेत अदालत में 5 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल। 28 जनवरी, 2013 को छठे आरोपी को नाबालिग पाते हुए जुवेनाइल कोर्ट में मामला भेजा गया।
  • 26 दिसंबर 2012 : निर्भया को एयर एंबुलेंस से सिंगापुर के अस्पताल भेजा गया। 29 दिसंबर, 2012 को उसने दम तोड़ दिया।
  • 22 दिसंबर 2012 :  निर्भया की हालत में सुधार, बयान दर्ज किया गया।
  • 20 दिसंबर 2012 : जंतर-मंतर, इंडिया गेट पर लोगों ने प्रदर्शन किए।
  • 19 दिसंबर 2012 : मुख्य आरोपी रामसिंह के बाद तीन अन्य आरोपियों विनय, पवन और मुकेश को गिरफ्तार कर साकेत कोर्ट में पेश किया गया। इनमें से दो ने अपनी गलती मानी।
  • 16 दिसंबर, 2012 : दिल्ली के वसंत विहार इलाके में रात एक चार्टर्ड बस में निर्भया से गैंगरेप हुआ और उसके साथ बर्बरता की गई।

Related Post

भारत में है दुनिया का इकलौता गांव, जहां पैदा होते हैं सबसे ज्यादा जुड़वां बच्चे

Posted by - October 16, 2018 0
नई दिल्‍ली। भारत में केरल राज्‍य के एक गांव ने पूरी दुनिया को सकते में डाला हुआ है। वैज्ञानिक भी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *