मदर टेरेसा की संस्था बेच रही थी बच्चे, दो नन समेत 3 गिरफ्तार

135 0

रांची। त्‍याग और करुणा की प्रतिमूर्ति मदर टेरेसा की मिशनरीज ऑफ चैरिटी से जुड़ी एक संस्था बच्‍चों की बिक्री के मामले में घिर गई है। रांची में स्थित ‘निर्मल हृदय’  संस्‍था पर नवजात बच्‍चों की बिक्री का आरोप लगा है। इस मामले में पुलिस ने संस्‍था की एक महिला कर्मचारी के अलावा दो सिस्टर को गिरफ्तार किया है।

क्‍या है मामला ?

चाइल्ड वेलफेयर कमेटी (CWC) की रांची इकाई की अध्यक्ष रूपा वर्मा की शिकायत के आधार पर पुलिस ने संस्‍था की कर्मचारी अनिमा इंदवार को गिरफ्तार किया है। शिकायत के मुताबिक, अनिमा ने यूपी के सोनभद्र जिले के एक दंपति को बच्चा बेचा था। इसके एवज में 1.20 लाख रुपये तक लिए गए। इस मामले में एक व्यक्ति को बुधवार को भी गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने कहा कि मामले की जांच चल रही है, संभव है कुछ और गिरफ्तारियां हों।

कैसे खुला मामला ?

बताया जा रहा है कि एक अविवाहित मां जो संस्था के संरक्षण में रहती थी,  उसके डेढ़ माह के बच्चे को संस्था ने यूपी के एक दंपति को दे दिया। इसके बदले दोनों से अस्पताल खर्च के नाम पर 1.20 लाख रुपये लिये गए। यह धनराशि संस्था की अनिमा इंदवार, सिस्टर कोनसिलिया और गार्ड के बीच बांटी गई थी, लेकिन पैसा लेने के बाद भी दंपति को बच्चा नहीं मिला। इसके बाद इसकी शिकायत उन्होंने CWC से की,  तब मामले का खुलासा हुआ।

आधा दर्जन बच्‍चों को बेचने का आरोप

आरोप है कि संस्‍था की कर्मचारी अनिमा चैरिटी होम की महिला संचालक के साथ मिलकर आधा दर्जन नवजात को अबतक बेच चुकी है। डीएसपी श्यामानंद मंडल ने बताया कि चैरिटी की तीन महिलाकर्मियों ने चार बच्चों को बेचा है। इनमें से 3 झारखंड में और एक बच्चा उत्तर प्रदेश में बेचा गया है। अनिमा ने स्वीकार किया है कि वह अब तक आधा दर्जन नवजात को चैरिटी होम की संचालिका सिस्टर कोनसीलिया के साथ मिलकर बेच चुकी है। यह सनसनीखेज मामला सामने आने के बाद पुलिस ने जांच का दायरा बढ़ा दिया है। पुलिस सिस्टर कोनसिलिया और सिस्टर मेरी को भी हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

Related Post

दक्षिण कोरिया के पूर्वी तट पर आया 5.4 तीव्रता का भूकंप

Posted by - November 15, 2017 0
रिकॉर्ड के मुताबिक कोरियाई प्रायद्वीप में यह दूसरा सबसे शक्तिशाली भूकंप दक्षिण कोरिया के दक्षिण पूर्वी तट पर बुधवार को…

यूपी के सरकारी स्कूलों में नहीं आते हैं बच्चे, पढ़ाने से ज्यादा रोजी कमाने पर जोर देते हैं पैरेंट्स

Posted by - November 30, 2018 0
बहराइच। जिले के सरकारी प्राथमिक स्कूलों में पढ़ने बच्चे नहीं आ रहे। नवाबगंज ब्लॉक के गांव भगवानपुर करिंगा के प्राथमिक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *