देश पर फहराया हिंदी और बांग्ला का परचम, उर्दू और संस्कृत धड़ाम

101 0

नई दिल्ली। देश में हिंदी और बांग्ला भाषाओं का परचम फहरा रहा है। वहीं, उर्दू और संस्कृत भाषा जानने वालों की संख्या लगातार गिर रही है।

कितने फीसदी भारतीय बोलते हैं कौन सी भाषा ?

  • 2011 के जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक, देश में 43.63% लोग हिंदी बोलते हैं। 2001 में ये  आंकड़ा 41.03% था।
  • बांग्ला बोलने वाले हैं 8.11%। ये आंकड़ा 2001 में 8.3% था।
  • मराठी बोलने वाले 7.09%। पहले मराठी बोलने वाले 6.99 फीसदी थे।
  • तेलुगू बोलने वाले अब 6.93%। 2001 में तेलुगू बोलने वाले 7.19% थे।
  • सिर्फ 24 हजार 821 लोग ही संस्कृत बोलते हैं।
  • संस्कृत बोलने वालों की संख्या बोडो, मणिपुरी, कोंकणी और डोगरी बोलने वालों से भी कम है।
  • उर्दू बोलने वालों की संख्या भी घटी। ये भाषा 7वें स्थान पर है।
  • 4.74% लोगों की मातृभाषा गुजराती है।
  • देश में 2.6 लाख लोगों की मातृभाषा अंग्रेजी है। इनमें से 1.06 लाख महाराष्ट्र में रहते हैं। दूसरे नंबर पर तमिलनाडु और तीसरे नंबर पर कर्नाटक है।
  • राजस्थान में 1.04 करोड़ लोगों की मातृभाषा भीली या भिलोडी है। ये भाषा संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल नहीं है।
  • 29 लाख लोगों की मातृभाषा गोंडी है।

Related Post

रियल लाइफ में इतनी ग्लैमरस है स्त्री की ‘चुड़ैल’, रंजनीकांत के साथ भी कर चुकी हैं काम

Posted by - September 13, 2018 0
मुंबई। एक्टर राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर की फिल्म स्त्री बॉक्स ऑफिस पर शानदार कमाई कर रही है। फिल्म के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *