वे नहीं गाते हैं वंदे मातरम, ये लोग नहीं करते हैं योगासन !

141 0

गुवाहाटी। मुसलमान कभी राष्ट्रगीत वंदे मातरम को नहीं गाते हैं। उनका तर्क है कि वो अल्लाह के अलावा किसी और की वंदना नहीं कर सकते। वहीं, भारत का एक राज्य ऐसा भी है, जहां के लोग योग नहीं करते। उनका मानना है कि उनके धर्म के मुताबिक योग करना ठीक नहीं है।

योग दिवस पर रहा सन्नाटा
21 जून को जब भारत समेत दुनिया के देश अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रहे थे, पूर्वोत्तर के छोटे से राज्य मिजोरम में इसे लेकर लोगों में कोई उत्साह नहीं था। राज्य में कहीं भी लोगों ने योग दिवस पर आसन नहीं लगाए। मिजोरम में योग दिवस न मनाए जाने के पीछे जो वजह सामने आई है, वो सोचने पर मजबूर कर देती है कि धर्म आखिर बेहतर स्वास्थ्य पर किस तरह भारी पड़ रहा है।

क्यों नहीं मनाया योग दिवस ?
दरअसल, मिजोरम की ज्यादातर आबादी ईसाई धर्म को मानती है। इस धर्म को मानने वालों के मुताबिक, ईसाई धर्म में योग की कोई जगह नहीं है। बता दें कि बीते साल भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर हेल्दी मिजोरम कैंपेन चलाया गया था।

दो साल पहले किया था योग का बहिष्कार
दो साल पहले मिजोरम की कोहरान हूराट्यूट कमेटी ने योग दिवस का बहिष्कार किया था। इस कमेटी से मिजोरम के 15 बड़े चर्च जुड़े हुए हैं। कमेटी ने उस वक्त योग को हिंदुत्व की चाशनी में डूबी हुई चीज बताया था।

मिजोरम में सिर्फ एक जगह हुआ योग
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मिजोरम की राजधानी आइजॉल में असम राइफल्स के मैदान पर ही सिर्फ योग के आसन लगाते सेना और अर्द्धसैनिक बलों के लोग देखे गए, लेकिन न तो इस कार्यक्रम में राज्य का कोई मंत्री आया और न ही विधायक। सीएम ललथनहवला अपने पौत्र की शादी में व्यस्त थे।

Related Post

मुकेश अंबानी के छोटे बेटे अनंत भी कर रहे डेटिंग, बड़े भाई-बहन की तय हो चुकी है शादी

Posted by - May 16, 2018 0
मुंबईः इन दिनों मुकेश अंबानी के बेटे और बेटी की शादी की ख़बरें मीडिया में छाई हुई हैं कहा जा रहा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *