कांग्रेस नेता सोज और गुलामनबी के बयान पर राजनीतिक घमासान

71 0
  • जम्मू-कश्मीर पर आजाद-सोज के बयान पर बरसी बीजेपी, कहा-देशविरोधियों के साथ खड़ी हुई कांग्रेस
  • भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी बोले – सोज को हम  पाकिस्‍तान का एक तरफ का टिकट दे सकते हैं

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और यूपीए सरकार के दौरान केंद्रीय मंत्री रहे सैफुद्दीन सोज़ के एक बयान के बाद पर राजनीतिक गलियारों में घमासान मचा हुआ है। उन्होंने पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ के उस बयान पर सहमति जताई है जिसमें उन्होंने कहा था कि आज़ादी कश्मीरियों की पहली पसंद है। हालांकि कांग्रेस ने सोज के बयान से खुद को अलग कर लिया है। वहीं कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के कश्‍मीर संबंधी बयान के बाद भाजपा आक्रामक हो गई है। गुलाम नबी ने कहा था कि कश्‍मीर में आतंकियों से ज्‍यादा सिविलियन और जवान मारे जा रहे हैं।

क्‍या कहा सैफुद्दीन सोज ने ?

पूर्व केंद्रीय मंत्री सैफुद्दीन सोज ने कश्मीरियों की आजादी को लेकर मुशर्रफ के बयान को सही करार दिया है। उन्होंने शुक्रवार (22 जून) को कहा, ‘मुशर्रफ कहते थे कि कश्मीरियों की पहली पसंद तो आजादी है। मुशर्रफ का बयान तब भी सही था, आज भी सही है।’ सोज ने अपनी किताब ‘कश्मीर : ग्लिम्प्सेस ऑफ हिस्ट्री एंड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल’ में मुशर्रफ की बातों का जिक्र किया है। इस किताब का इसी महीने लोकार्पण होना है। सोज ने कहा, ‘मुशर्रफ कहते थे कि कश्मीरी लोग पाकिस्तान के साथ विलय नहीं चाहते। अगर कश्मीरियों को अपनी राह चुनने का मौका दिया जाए तो वे आजादी को तरजीह देंगे।’

सुब्रमण्यम स्वामी ने बोला सोज पर हमला

सैफुद्दीन सोज के बयान पर भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, ‘सैफुद्दीन सोज़ जब केंद्रीय मंत्री थे तब जेकेएलएफ द्वारा उनकी बेटी के अपहरण के समय केंद्र की शक्तियों की वजह से ही उन्हें फायदा मिला था। ऐसे लोगों की मदद करने का कोई मतलब नहीं है। जो लोग भारत में रहना चाहते हैं वे रहें। अगर सोज को मुशर्रफ पसंद हैं तो हम उन्हें पाकिस्तान का एक तरफ का टिकट दे सकते हैं।’

गुलामनबी के बयान पर भी हंगामा

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के उस बयान पर भी हंगामा मच गया है कि जिसमें उन्होंने कहा कि घाटी में चल रहे सेना के ऑपरेशन में आतंकी कम और नागरिक ज्यादा मारे जा रहे हैं। यही नहीं, पाकिस्‍तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने भी आजाद के इस बयान का समर्थन किया है। एक निजी टीवी चैनल से इंटरव्‍यू के दौरान गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘केंद्र सरकार की दमनकारी नीति का सबसे ज्यादा नुकसान आम जनता को भुगतना पड़ता है। हाल के आंकड़ों पर गौर करें तो सेना की कार्रवाई नागरिकों के खिलाफ ज्यादा और आंतकियों के खिलाफ कम हुई है। घाटी में हालात बिगड़ने का मुख्य कारण यह है कि मोदी सरकार बातचीत करने की अपेक्षा कार्रवाई करने में ज्यादा यकीन रखती है। ऐसा लगता है कि वे हमेशा हथियार इस्तेमाल करना चाहते हैं।’

भाजपा हुई कांग्रेस पर आक्रामक

दोनों वरिष्‍ठ कांग्रेस नेताओं के बयानों की भाजपा ने तीखी आलोचना की है। भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कांफ्रेंस में गुलाम नबी आजाद के बयान को गैर जिम्मेदाराना, शर्मनाक और सेना का मनोबल तोड़ने वाला बताया। उन्‍होंने कहा कि पूर्व सीएम की इस टिप्पणी से सबसे ज्यादा खुश पाकिस्तान होगा। प्रसाद ने कहा, ‘आजाद की यह टिप्पणी दुर्भाग्यपूर्ण है। वह क्या कहना चाहते हैं? कांग्रेस पार्टी देश तोड़ने वालों के साथ खड़ी हो गई है। कांग्रेस का एक ऐसा नेता यह बयान दे रहा है जो जम्मू-कश्मीर का सीएम रह चुका है।’ उन्होंने कहा, ‘सेना चीफ बिपिन रावत और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के शहीद औरंगजेब के घर जाने को आजाद ड्रामा बताते हैं। इससे खराब बात और क्या हो सकती है।’

सोज पर स्‍पष्‍टीकरण दें सोनिया-राहुल : प्रसाद

बीजेपी नेता ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सैफुद्दीन सोज के कश्मीर की आजादी वाले बयान पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चीफ राहुल और सोनिया इस बयान पर जवाब दें।  वहीं शिवसेना की मनीषा कायंदे ने कहा, ‘सैफुद्दीन सोज़ के इस बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष को स्पष्टीकरण देना चाहिए। अगर उन्हें पाकिस्तान और मुशर्रफ़ से ज़्यादा लगाव है तो फिर उन्हें पाकिस्तान जाकर उनका सेवक बन जाना चाहिए।’

Related Post

हाईकोर्ट की सख्त टिप्पणी – ‘जरूरी नहीं, पत्नी शारीरिक संबंध के लिए हमेशा तैयार हो’

Posted by - July 18, 2018 0
कोर्ट ने कहा, शादी जैसे रिश्ते में पुरुष व महिला दोनों को शारीरिक संबंध के लिए ‘ना‘ कहने का अधिकार…

आ गए फेसबुक के बरें दिन!

Posted by - June 2, 2018 0
नई दिल्ली। एक समय था जब दुनियाभर में फेसबुक की लोकप्रियता बहुत ज्‍यादा थी, लेकिन गुरुवार को आए एक सर्वे में ये…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *