वैज्ञानिकों ने पता लगा लिया, भूखे होने पर क्यों आता है गुस्सा

191 0

वाशिंगटन। अक्‍सर देखते हैं कि जब हमें भूख लगती है और उस समय खाने को कुछ न मिले तो हमें गुस्‍सा आ जाता है। अभी तक यह एक पहेली ही थी कि ऐसा क्‍यों होता है, लेकिन अब वैज्ञानिकों ने इस बात का पता लगा लिया है कि हमें भूख लगने के साथ ही गुस्सा क्यों आने लगता है। वैज्ञानिकों ने एक अध्‍ययन में पाया है कि ऐसा जीवविज्ञान की परस्पर क्रिया, व्यक्तित्व और आसपास के माहौल के कारण होता है।

किसने किया अध्‍ययन ?

अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलिना की एक शोध छात्रा जेनिफर मैकोर्माक ने यह अध्‍ययन किया है। उन्‍होंने बताया, ‘सभी जानते हैं कि जब हम खुद को भूखा महसूस करने हैं तो कभी-कभी हमारी भावनाएं और विचार भी प्रभावित होते हैं। हाल ही में ऑक्सफोर्ड डिक्‍शनरी ने ‘हैंगरी’ शब्द भी स्वीकार किया है, जिसका मतलब होता है कि भूख की वजह से गुस्सा आना।’ यह शोध अध्‍ययन ‘इमोशन जर्नल’ में प्रकाशित हुआ है। मैकोर्माक ने बताया, ‘हमारे अनुसंधान का उद्देश्य भूख से जुड़ी हुई भावनात्मक स्थितियों का मनोवैज्ञानिक तरीके से अध्ययन करना है। मसलन, कोई कैसे भूखा होने के साथ ही गुस्सा भी हो जाता है।

क्‍या पता चला शोध में ?

मैकोर्माक ने बताया इस संबंध में उन्‍होंने 400 से ज्यादा लोगों पर अनुसंधान किया। अनुसंधान में पता चला कि घर का माहौल भी इस बात के लिए जिम्‍मेदार होता है कि कोई भूखे होने से गुस्सा होगा या नहीं। हालांकि यही इकलौता कारण नहीं है। मैकार्माक ने कहा कि लोगों के भावनात्मक जागरुकता के स्तर से भी यह तय होता है कि उसे गुस्‍सा आएगा या नहीं। वे लोग जो इस बात के प्रति अधिक जागरूक होते हैं कि उन्हें भूख लगी है या नहीं, ऐसे लोगों में गुस्सा होने की संभावना कम होती है।

कैसे करें गुस्से को काबू ?

क्रोध एक सामान्य भावना है। हममें से शायद ही कोई हो, जिसे कभी गुस्‍सा न आता हो। लेकिन  जब यह नियंत्रण से बाहर हो जाता है तो आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। गुस्सा दिल के दौरे, स्ट्रोक, ब्लड प्रेशर के खतरे को भी बढ़ा सकता है। यही नहीं, इससे आपके सामाजिक रिश्‍ते भी प्रभावित हो सकते हैं, इसलिए गुस्‍से को काबू में रखना जरूरी है।

आइए जानते हैं कि हम अपने गुस्से को काबू में कैसे रख सकते हैं – 

  • कुछ भी बोलने से पहले सोच लें कि आप क्‍या कहने जा रहे हैं और उसका दूसरे के ऊपर क्‍या प्रभाव पड़ सकता है। कहीं ऐसा तो नहीं सामने वाले को आपकी बात से गुस्‍सा आ जाए।
  • अपने गुस्से के संकेतों को पहचानें ताकि उस पर काबू रख सकें। जब आप गुस्से में होते हैं तो आपके दिल की धड़कन तेज हो जाती है  तेज-तेज सांस लेते हैं। इसलिए ऐसा जब भी हो, आप सावधान हो जाएं और इन पर काबू पाने का प्रयास करें।
  • धीरे-धीरे सांस अंदर लें और फिर 3 सेकेंड तक सांस रोके रखें, इसके बाद सांस धीरे-धीरे छोड़ें। ऐसा 4 से 5 बार करें। आप देखेंगे कि ऐसा करने से आप गुस्से को मात देने में काफी हद तक सफल रहेंगे।
  • रोज रात में पर्याप्त नींद लें, क्योंकि नींद पूरी ना होने से भी आप सामान्‍य महसूस नहीं करते हैं। रात की अच्छी नींद आपके मूड को बढि़या बनाती है और आप जल्‍दी गुस्से का शिकार नहीं होते हैं।

Related Post

गोरखपुर दंगा मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ को बड़ी राहत

Posted by - February 1, 2018 0
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने योगी के खिलाफ केस चलाने संबंधी याचिका को किया खारिज इलाहाबाद/गोरखपुर। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को मुख्यमंत्री…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *