बैंक का कर्ज नहीं चुका पाया तो 9 बच्चों के पिता ने लगा ली फांसी

189 0
  • महराजगंज जिले के कोठीभार क्षेत्र की घटना, कर्जा चुकाने और बेटियों की शादी की चिंता में था तनावग्रस्‍त

शिवरतन कुमार गुप्ता ‘राज़’

महराजगंज। बैंक के कर्ज तले दबे जिले के कोठीभार क्षेत्र के कोल्हुआ निवासी किसान प्रभु ने बुधवार (13 जून) रात फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। अगले दिन गुरुवार सुबह घर के बगल में नीम के पेड़ से उसका शव लटकता मिला। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। आत्महत्या की खबर सुनकर पूरा गांव प्रभु के घर की ओर उमड़ पड़ा।

मछली बेचकर चलाता था परिवार

प्रभु साहनी मछली बेचकर अपने परिवार का भरण-पोषण करता था। उसकी 6 बेटियां और 3 बेटे हैं। प्रभु दो वर्षों से अधिक समय से आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। बेटियों की शादी के लिए वह काफी परेशान रहता था। वर्ष 2017 में उसने बैंक से 1.50 लाख रुपए का कर्ज लिया। इस कर्ज से उसने सविता और बिंदू दो बेटियों की शादी की। इसके बाद वह बैंक का कर्ज चुकता नहीं कर पाया। इससे उसकी चिंता बढ़ने लगी। इस बीच बैंक भी कर्ज की रकम जमा करने के लिए दबाव बना रहा था।

कर्ज चुकाने को गांव में ही लिया उधार

प्रभु की पत्‍नी सुभागी देवी ने बताया कि एक महीने पहले प्रभु ने गांव के ही एक व्यक्ति से एक लाख रुपया उधार लेकर बैंक में जमा किया। इसके बाद से वह तनाव में रहने लगा। ग्रामीण जब भी इसका कारण पूछते तो यही कहता कि बैंक का पूरा कर्ज जमा नहीं कर पा रहा हूं। बेटियों की शादी भी नहीं हो पा रही है।

रात में नीम के पेड़ से लटककर लगाई फांसी

प्रभु बुधवार रात भोजन करने के बाद अपने छप्पर के मकान में सोने चला गया। रात करीब दो बजे वह चुपचाप उठा और घर के बगल में नीम के पेड़ पर प्लास्टिक की रस्सी के सहारे फंदा लगाकर उसने आत्महत्या कर ली। गुरुवार सुबह परिजनों ने पेड़ से लटकता हुआ उसका शव देखा। पुलिस को सूचना दी गई। कोठीभार पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया। थानाध्यक्ष अरुण कुमार राय ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि प्रभु ने आर्थिक तंगी में ही आत्महत्या की है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Related Post

घूमर गाने पर डांस कर विवादों में घिरीं मुलायम की बहू अपर्णा

Posted by - November 29, 2017 0
लखनऊ। फिल्म पद्मावती को लेकर राजपूत समाज के विरोध के चलते देश में बवाल मचा हुआ है। इस बीच समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह…

कर्नाटक के कोर्ट ने रचा इतिहास, सिर्फ 11 दिनों में दोषी को सज़ा

Posted by - July 8, 2018 0
चित्रदुर्ग की जिला अदालत ने सुनाया आज तक सबसे तेज़ फैसला, पेश किया उदाहरण बेंगलुरु। कर्नाटक में चित्रदुर्ग की जिला…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *