दुनिया से छंटा तीसरे विश्व युद्ध का खतरा, किम परमाणु कार्यक्रम रोकने को तैयार

40 0
  • डोनाल्‍ड ट्रंप बोले – दुनिया की सबसे बड़ी और खतरनाक समस्या का निकल गया समाधान  

सिंगापुर। कभी कट्टर दुश्मनों में शुमार माने जाने वाले आखिरकार आज दोस्त बन गए। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के सुप्रीम नेता किम जोंग उन के बीच सिंगापुर में हुई मुलाकात इतिहास के पन्‍नों में दर्ज हो गई है। इसी के साथ कुछ दिनों पहले तक दुनिया पर जो तीसरे विश्वयुद्ध का खतरा मंडरा रहा था, वो इन दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद टल गया है। मुलाकात के बाद ट्रंप ने कहा कि बैठक उम्मीद से ज्यादा अच्छी रही तो वहीं किम जोंग बोले कि आने वाले दिनों में दुनिया बड़ा बदलाव देखेगी।

पूर्ण निरस्त्रीकरण होगा कोरियाई प्रायद्वीप का

सिंगापुर में मंगलवार (12 जून) को ट्रंप और किम जोंग के बीच दो दौर में मुलाकात हुई। पहली मुलाकात करीब 41 मिनट की रही और फिर करीब 50 मिनट तक दोनों नेताओं ने बातचीत की। दो दौर की बात और फिर लंच के बाद दोनों नेताओं ने साझा बयान जारी किया। साझे बयान में कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण निरस्त्रीकरण पर दोनों देशों ने सहमति जताई। बता दें कि अमेरिका ने बातचीत के लिए यही शर्त रखी थी। किम द्वारा यह शर्त मानने के बाद ही ट्रंप सिंगापुर जाने को तैयार हुए थे।

दोनों नेताओं के बीच क्‍या हुआ करार ?

ट्रंप और किम जोंग की करीब 90 मिनट तक बातचीत के बाद दोनों नेताओं ने एक करार पर हस्ताक्षर किए। करार के मुताबिक उत्तर कोरिया परमाणु कार्यक्रम को पूरी तरह रोकने के लिए तैयार हो गया है। ट्रम्प ने कहा, ‘दुनिया की सबसे बड़ी और खतरनाक समस्या का हल हो गया है। इसके लिए मैं किम को धन्यवाद देता हूं। वो बहुत कठिन समय था। अब दोनों देश मिलकर काम करेंगे और एक-दूसरे का सम्मान करेंगे।’ जब ट्रंप से पूछा गया कि क्या वे किम को व्हाइट हाउस आने का न्योता देंगे,  तो ट्रम्प ने कहा – ‘बिल्कुल’।

मुलाकात पर किम ने ट्रंप से कहा – ‘नाइस टू मीट यू प्रेसिडेंट’

शर्तें पूरी होने तक जारी रहेंगे प्रतिबंध

मुलाकात के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ऐलान किया कि बातचीत काफी सकारात्मक रही है। किम ने भरोसा दिलाया है कि वादों को पूरा करेंगे और कोरियाई प्रायद्वीप को पूरी तरह परमाणु हथियारों से मुक्त किया जाएगा। अमेरिका हथियारों को नष्ट कराने के बाद उसकी जांच कराएगा। ये विश्व शांति के लिए जरूरी है। हालांकि, ट्रंप ने ऐलान किया कि शर्तों के पूरा होने तक उत्‍तर कोरिया पर प्रतिबंध जारी रहेंगे।

ट्रंप ने की किम जोंग की सराहना

डोनाल्‍ड ट्रंप ने किम जोंग उन की सराहना की। उन्‍होंने कहा, ‘इस उम्र में वे काफी प्रतिभावान हैं। वे अपने देश से बहुत प्यार करते हैं। किम के पास ऐतिहासिक मौका है अपने देश को दुनिया के साथ जोड़ने का और दुनिया की प्रगति में हिस्सेदार बनाने का। किम ने कोरियाई प्रायद्वीप को पूरी तरह परमाणु हथियारों से मुक्त करने का भरोसा दिलाया है। हम उनके इस वादे पर भरोसा करेंगे और इस मिशन को पूरा करेंगे।’ ट्रंप ने इस मुलाकात को दुनिया में शांति की दिशा में सबसे बड़ा कदम बताया।

क्‍या बोले किम जोंग उन ?

अमेरिका के साथ करार पर हस्ताक्षर करने के बाद किम जोंग उन ने कहा, ‘हमने अतीत को पीछे छोड़कर आगे बढ़ने का फैसला किया है और दुनिया बड़ा बदलाव देखेगी।’ इससे पहले किम ने कहा था, ‘यहां तक पहुंचना आसान नहीं रहा। पुरानी मान्यताओं ने रोड़ा अटकाने की कोशिश की, लेकिन हम इससे उबरे और आज यहां हैं।’ मीडिया ने जब किम से पूछा कि क्या उन्होंने एटमी साइट को बंद कर दिया तो वे सिर्फ मुस्कराते रहे। उन्होंने कहा कि लोगों को ये मुलाकात किसी साइंस फिक्शन फिल्म की तरह लग सकती है।

Related Post

मणिपुर की लोकटक झील में मिले ऐसे जीवाणु, जो बढ़ाएंगे फसलों की पैदावार

Posted by - July 16, 2018 0
नई दिल्‍ली। मणिपुर की प्रसिद्ध लोकटक झील दुनियाभर में अपने तैरते हुए द्वीपों के लिए जानी जाती है। यह उत्‍तर…

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने सांसद ज्योतिरादित्य से मांगी माफी, जानिए क्यों

Posted by - July 27, 2018 0
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लोकसभा में दिया था विशेषाधिकार हनन का नोटिस नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को गुना…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *