चीनी हैकरों ने चुराया यूएस नेवी का खुफिया डाटा, एंटी शिप मिसाइल फार्मूला भी उड़ाया

225 0
  • हैकरों ने खुफिया प्रोजेक्ट (सी ड्रैगन), सिग्नल-सेंसर डाटा, पनडुब्बी की डेवलपमेंट यूनिट में भी लगाई सेंध
  • चीनी हैकर्स पहले भी चुरा चुके हैं F-35 लड़ाकू विमान, मिसाइल सिस्टम समेत कई खुफिया प्रोजेक्ट : पेंटागन

वॉशिंगटन। चीन सरकार के हैकरों ने अमेरिकी नेवी का खुफिया डाटा चुराकर अमेरिका के होश उड़ा दिए हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इनमें समुद्र के अंदर जंग की योजनाएं, जैसे पनडुब्बी से दागी जाने वाली एक नई एंटी-शिप मिसाइल बनाने का प्लान भी शामिल है।

दो महीनों में 614 गीगाबाइट डाटा चुराया

‘वॉशिंगटन पोस्ट’ की खबर के मुताबिक, चीन के हैकरों ने इस साल जनवरी से फरवरी के बीच अमेरिकी नेवी का 614 गीगाबाइट डाटा चुराया। इसमें एंटी-शिप मिसाइल का प्लान भी शामिल है। अमेरिकी पनडुब्बी में ये मिसाइल 2020 तक लगाई जानी है। अखबार के अनुसार, एक अमेरिकी अफसर का कहना है कि हैकरों ने एक खुफिया प्रोजेक्ट (सी ड्रैगन), सिग्नल-सेंसर डाटा, पनडुब्बी रेडियो रूम और डेवलपमेंट यूनिट में भी सेंधमारी की। हैकरों ने जिन कंप्यूटरों से ये डाटा चुराया वे एक कॉन्ट्रैक्टर के हैं। ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ ने हालांकि कॉन्ट्रैक्टर के नाम का खुलासा नहीं किया है।

पूर्वी एशिया में बड़ी ताकत बनना चाहता है चीन

अखबार के मुताबिक, ‘अमेरिका हमेशा से मिलिट्री टेक्नोलॉजी में आगे रहा है। डाटा की चोरी दरअसल चीन की लंबे वक्त से चली आ रही अमेरिका को रोकने की कोशिशों का हिस्सा है। चीन पूर्वी एशिया में सबसे बड़ी ताकत बनना चाहता है। एक तरफ अमेरिका, उत्तर कोरिया को रोकने के लिए चीन का समर्थन चाहता है। वहीं व्यापार औऱ रक्षा मामलों पर अमेरिका-चीन के बीच में तनाव भी है।’

एफबीआई के साथ नेवी जांच में जुटी

डाटा चोरी की खबर सामने आने के बाद पेंटागन (अमेरिकी रक्षा मंत्रालय) के इंस्पेक्टर जनरल ऑफिस ने कहा कि रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने कॉन्ट्रैक्टर साइबर सिक्युरिटी मसले का रिव्यू करने को कहा था। इसी दौरान डाटा चोरी की बात का खुलासा हुआ। वहीं अफसरों का कहना है कि नेवी, फेडरल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टीगेशन (FBI) की मदद से पूरे मामले की जांच करा रही है।

पहले भी खुफिया प्रोजेक्‍ट चुरा चुके हैं चीनी हैकर्स

रिपोर्ट के अनुसार, चीनी हैकर्स कई सालों से अमेरिकी मिलिट्री की जानकारियां चुराने में जुटे हैं। पेंटागन के मुताबिक, चीनी हैकर्स पहले भी F-35 लड़ाकू विमान, पीएसी-3 मिसाइल सिस्टम समेत कई खुफिया प्रोजेक्ट की चोरी कर चुके हैं। बता दें कि बिगड़ते संबंधों के कारण ही अमेरिका ने पिछले हफ्ते चीन के साथ प्रशांत महासागर में संयुक्त युद्धाभ्यास के न्योते को वापस ले लिया था।

Related Post

यूपी के बस्ती में गिरा निर्माणाधीन फ्लाईओवर, चार मजदूर घायल, दो मलबे में दबे

Posted by - August 11, 2018 0
बस्‍ती। देश में बारिश के चलते निर्माणाधीन इमारत और फ्लाईओवर गिरने का सिलसिला लगातार जारी है। अभी वाराणसी में फ्लाईओवर…

कठुआ गैंगरेप-हत्या केस का ट्रायल अब पठानकोट में, सुप्रीम कोर्ट का आदेश

Posted by - May 7, 2018 0
सर्वोच्‍च अदालत ने मामले की जांच सीबीआई से कराने से किया इनकार, अगली सुनवाई अब 9 जुलाई को नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *