मिल गया महाभारत युद्ध के दौर का अर्जुन का इस्तेमाल किया हुआ रथ !

279 0

मेरठ। महाभारत युद्ध को तमाम लोग काल्पनिक मानते हैं, लेकिन ताजा सबूत साबित कर रहे हैं कि दुनिया की ये सबसे बड़ी जंग हुई थी। महाभारत के ये सबूत मिले हैं, पश्चिम यूपी के बागपत जिले में। यहां से कुरुक्षेत्र नाम की वो जगह ज्यादा दूर नहीं है, जहां महाभारत की जंग में कौरवों पर पांडवों की जीत की बात कही जाती है।

महाभारत युद्ध के ये हैं सबूत !
बागपत जिले के सिनौली गांव में आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) बीते तीन महीने से एक टीले की खुदाई कर रहा था। इसी खुदाई में महाभारतकालीन चीजें मिली हैं। ऐसी चीजें, जिनसे साबित होता है कि उस वक्त भी उन्नत सभ्यता थी और लोग रोजमर्रा के इस्तेमाल की चीजों के अलावा रथ और हथियार भी बनाते थे। एएसआई के अनुसार टीले की खुदाई में मिली सारी चीजें ताम्र और कांस्य युग की हैं। यानी 4 हजार साल से भी ज्यादा पुरानी। माना जाता है कि महाभारत की जंग को हुए करीब 6 हजार साल हुए हैं।

बागपत जिले में खुदाई में मिला महाभारत कालीन रथ

खुदाई में क्या मिला ?
सिनौली गांव में खुदाई के दौरान तीन रथ मिले हैं। इसके अलावा तलवारें और अन्य हथियार मिले हैं। इसके अलावा योद्धाओं और राज परिवारों के सदस्यों के ताबूत भी मिले हैं। एएसआई के सहायक निदेशक एसके मंजुल के मुताबिक, रथ मिलने से साफ है कि उस दौरान हमारे देश की सभ्यता ग्रीस और मेसोपोटामिया की सभ्यताओं के बराबर थी। यहां से पीपल के पत्ते जैसे आकार के मुकुट भी मिले हैं।

पहली बार मिले महाभारतकालीन युग के सबूत
बता दें कि पहली बार महाभारतकालीन युग के सबूत मिले हैं। जो ताबूत मिले हैं, उनके किनारों पर शानदार नक्काशी की गई है। इसके अलावा तलवारें, ढाल, कटारें और युद्ध में पहने जाने वाले हेलमेट भी खुदाई में मिले हैं। इनके अलावा तांबे और मिट्टी के बर्तन, कंघे, तांबे का बना आईना भी मिला है। एसके मंजुल के मुताबिक जो चीजें मिली हैं, उनसे साबित होता है कि ये लोग योद्धा थे। मंजुल के मुताबिक, ये साबित हो गया है कि सारी चीजें हड़प्पा युग की नहीं हैं।

Related Post

शत्रु का विवादित बयान, कहा- राजनीति और फिल्मों में सेक्स से मिलता है काम

Posted by - April 27, 2018 0
मुंबई .बॉलीवुड में बीते कुछ दिनों एक्टर और कोरियोग्राफर विवादित ब्यान देते नजर आ रहे है, हालही में सरोज खान…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *