किसान आंदोलन : कई राज्यों में दूध की किल्लत, सब्जियों के दाम बढ़े

183 0
  • आंदोलन के कारण गांव से सब्जियों व दूध इत्‍यादि की आपूर्ति हुई प्रभावित
  • मध्‍य प्रदेश में कई स्‍थानों पर पुलिस की मौजूदगी में हुई सब्जियों की बिक्री

नई दिल्ली। देश में ‘गांव बंद’ आंदोलन जारी है। सोमवार (4 जून) को इस आंदोलन का चौथा दिन है। आंदोलल के कारण कई राज्‍यों में गांव से सब्जियों व दूध आदि की आपूर्ति प्रभावित हुई है, इससे सब्जियों के दाम में भी इजाफा हो रहा है। वहीं मध्‍य प्रदेश के कई स्थानों पर सब्जियों की बिक्री पुलिस की मौजूदगी में हो रही है। पंजाब और हरियाणा में किसानों ने कई जगह विरोधस्वरुप सड़कों पर अपनी उपज फेंकी जिससे इन दोनों राज्यों के शहरों में सब्जियों के दाम काफी बढ़ गए हैं। अगर 10 दिन तक यह आंदोलन चलता है तो शहरों में सब्जियों और खाद्य पदार्थ को लेकर गंभीर संकट खड़ा हो सकता है।

क्‍यों हो रहा है आंदोलन ?

केंद्र सरकार की कथित किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ किसानों का 10 दिवसीय आंदोलन शुक्रवार 1 जून को शुरु हुआ था। देश के 22 राज्यों में कई किसान संगठन संयुक्त रूप से प्रदर्शन कर रहे हैं और अपनी उपज के लिए लाभकारी दाम, स्वामीनाथ आयोग की सिफारिशें लागू करने एवं कृषि ऋण माफ करने की मांग कर रहे हैं। वहीं 7 राज्यों में किसानों ने आंदोलन के साथ बंद का भी आह्वान किया है। आंदोलन शुरू होते ही किसानों ने शहरों में सब्जियों, फलों, दूध और अन्य खाद्य पदार्थों की आपूर्ति रोक दी है। आंदोलन के दौरान किसानों ने किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट को बाजार तक पहुंचाने से मना किया है, चाहे वो सब्जी या दूध हो या फिर कुछ और।

पंजाब व मध्‍य प्रदेश में हालात चिंताजनक

पहले दिन किसानों ने पुणे के खेडशिवापुर टोल प्लाजा पर 40 हजार लीटर दूध बहाया था। पंजाब के कई इलाकों में किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। फरीदकोट में किसानों ने सड़कों पर फल और सब्जियां फेंककर विरोध जताया तो होशियारपुर और लुधियाना में किसानों ने सड़कों पर दूध के टैंकर खाली कर दिए।  राज्य में कई जगह स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। मध्य प्रदेश में आंदोलन का सबसे ज्यादा प्रभाव दिख रहा है। मंदसौर के किसानों ने सब्जी और दूध शहर से बाहर भेजने से मना कर दिया है। खरगौन में किसानों के बंद के चलते सब्जी मंडी में सिर्फ 50 फीसदी ही सब्जियां पहुंचीं। होशंगाबाद में किसानों ने अस्पताल में मुफ्त दूध बांटने का फैसला किया है।

यूपी में भी किसान संगठनों का विरोध

किसान आंदोलन का असर उत्तर प्रदेश में देखने को मिल रहा है। ताज नगरी आगरा में किसानों ने खूब उत्पात मचाया। उन्होंने अपने वाहनों की फ्री आवाजाही के लिए टोल पर कब्जा कर लिया और जमकर तोड़फोड़ की। उधर, रविवार को मेरठ में किसानों ने कमिश्नरी चौराहे पर हंगामा किया और सड़क पर सब्जियां फेंककर रोष जताया। यहां गन्ना मूल्य के भुगतान की मांग को लेकर 10 दिनों से धरने पर बैठे किसान अब भूख हड़ताल पर उतर आए हैं। उन्होंने रविवार को प्रदेश सरकार का पुतला भी फूंका। बुलंदशहर और मुजफ्फरनगर में भी आंदोलन का असर देखने को मिला।

राजस्‍थान में मंडी में लूटपाट

राजस्थान में किसान आंदोलन का असर रविवार को तीसरे दिन भी देखने को मिला। आंदोलन का सबसे अधिक असर चार जिलों बीकानेर, श्रीगंगानगर, चुरू और हनुमानगढ़ जिलों में में देखने को मिल रहा है। कई जगह आंदोलन के दौरान अराजकता फैलने लगी है। इन चारों जिलों में रविवार को उग्र किसानों ने सब्जी और दूध मंडी में लूटपाट भी की। दूध और सब्जियां लेकर शहर की तरफ जा रहे ट्रकों को किसानों ने रोक कर सड़कों पर ही दूध और सब्जी फैला दी। कुछ स्थानों पर ट्रक चालकों के साथ मारपीट भी की गई। श्रीगंगानगर और बीकानेर में तो राहगीरों के साथ बदसलूकी भी की गई। कई जगह किसानों ने जाम भी लगाया। जयपुर में सब्जियों के दामों में 25 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो गई है। जयपुर सहित प्रदेश के कई शहरों में लोगों को दूध के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सीएम खट्टर ने किसानों को दी चेतावनी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि सरकार के खिलाफ प्रदर्शन से किसी उद्देश्य की पूर्ति नहीं होगी। हमने किसानों की बातें हमेशा सुनी हैं। जो लोग किसानों को गुमराह कर रहे हैं, वे उनके सबसे बड़े दुश्मन हैं। उन्‍होंने कहा कि किसानों को बाजारों में अपनी उपज लाने से रोकने वालों से कड़ाई से निबटा जाएगा। हालांकि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कृषि संकट के प्रति कथित उदासीनता के लिए केंद्र सरकार की निंदा की।

Related Post

पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मंच पर बड़ा झटका, टेरर फंडिंग वाले देशों में शामिल

Posted by - February 23, 2018 0
फाइनेंशियल एक्‍शन टास्‍क फोर्स (FATF) ने पाकिस्‍तान को ‘ग्रे लिस्‍ट’ में डाला, रखी जाएगी कड़ी नजर पेरिस। पाकिस्‍तान को अंतरराष्‍ट्रीय मंच…

मुस्लिम महिलाओं के बाल कटवाने और आईब्रो बनवाने के खिलाफ फतवा

Posted by - October 7, 2017 0
दारुल उलूम देवबंद के मौलाना सादिक काजमी ने जारी किया फतवा, कहा ऐसा करना इस्‍लाम के खिलाफ देवबंद। मुस्लिम महिलाओं के…

रिसर्च : अब इस प्रणाली से बिना जीपीएस किसी की भी लोकेशन को कर सकेंगे ट्रैक

Posted by - October 12, 2018 0
वाशिंगटन। वैज्ञानिकों ने एक ऐसी प्रणाली विकसित की है, जिसकी सहायता से अब जीपीएस के बिना भी किसी की लोकेशन…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *