Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

सिर्फ 20 सेकेंड की चूक ने ली उसकी जान !

101 0

लखनऊ। आजकल स्वीमिंग का क्रेज है। स्वीमिंग यानी तैरना। इसे सबसे बेहतर एक्सरसाइज माना जाता है, लेकिन पानी को लेकर लोगों में स्वाभाविक डर होता है। पानी में डूबने के खतरे से तो लोग वाकिफ हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि कोई डूब रहा है या नहीं, इसे कैसे पहचानें ? चलिए, हम आपको बताते हैं वो सारे संकेत, जिन्हें देखकर आप बता सकते हैं कि वो शख्स पानी में डूब रहा है या नहीं।

डूब रहा शख्स नहीं लगा पाता है बचाने की गुहार

आमतौर पर फिल्मों और सीरियल्स में देखा जाता है कि पानी में डूबने वाले किरदार ऊपर की ओर हाथ उठाकर और जोर-जोर से चीखकर बचाने की गुहार लगाते हैं, लेकिन विशेषज्ञों के मुताबिक, ज्यादातर मामलों में ऐसा नहीं होता। विशेषज्ञों के मुताबिक, पानी में डूब रहा कोई शख्स अमूमन आवाज लगा ही नहीं पाता। इसकी वजह ये है कि वो बचने के लिए मुंह खोलकर सांस लेता रहता है। सांस लेने की वजह से उसकी आवाज निकल ही नहीं पाती है।

डूबते शख्स का मुंह नीचे की तरफ होता है

विशेषज्ञों ने पाया कि डूब रहे व्यक्ति का मुंह पानी के भीतर की तरफ होता है और वो कभी-कभी बाहर निकलता है। ज्यादातर वक्त पानी के भीतर सिर होने की वजह से उसे सांस लेने में दिक्कत होती है। इसी वजह से पानी में मुंह खोलने पर फेफड़ों में पानी भर जाता है।

हाथ हिलाकर भी मदद मांगना मुश्किल

पानी में डूब रहे लोग हाथ उठाकर या हिलाकर भी मदद नहीं मांग पाते। विशेषज्ञों के अनुसार, प्रकृति ने हमें ऐसा बनाया है कि पानी में उतरते ही हम तैरने के लिए अपने हाथ-पैर चलाने लगते हैं और डूबने से बचने की कोशिश करते हैं। ऐसे में लोग डूबते वक्त अपना हाथ नहीं उठाते और कोशिश करते हैं कि हाथ चलाकर वो किसी तरह पानी से बाहर अपना सिर रख सकें।

हाथों को चलाने से भी बचने की उम्मीद नहीं

अगर किसी को तैराकी नहीं आती और वो पानी में गिर जाता है, तो वो ताबड़तोड़ हाथ-पैर मारता है। ऐसा करना उसके लिए फायदेमंद नहीं होता। इसकी वजह ये है कि तैरने के लिए हाथ और पैर के बीच सामंजस्य होना चाहिए। ऐसे में डूबता हुआ व्यक्ति जिस तरह हाथ और पैर को चलाता है, उससे उसे कोई फायदा नहीं होता।

बस इतनी देर में डूब जाता है आदमी

अगर लाइफगार्ड किसी को न बचाए, तो तैराकी न जानने वाला कोई भी व्यक्ति महज 20 से 60 सेकेंड में डूबकर जान गंवा देता है। इतनी देर में ही किसी को बचाने की कोशिश के लिए ट्यूब या रस्सी फेंकी जा सकती है, ताकि उसे पकड़कर वो पानी पर उतराता रहे।

डूबने के कुछ और लक्षण

  • पानी के भीतर सिर होना, मुंह तक पानी पहुंच जाना।
  • सिर पीछे की ओर होना और मुंह खुला होना।
  • आंखों से किसी एक ओर न देखना या आंखों का बंद होना।
  • आंखों के ऊपर या माथे पर बालों का आ जाना।
  • पानी में पैरों को न चलाना।
  • मुंह खोलकर तेजी से सांस लेने की कोशिश करना।
  • किसी एक दिशा में तैरने की नाकाम कोशिश करना।
  • पानी में अपने पीठ के बल आने की कोशिश करना और पानी में शरीर का रोल होना।

Related Post

हजारों बच्चों की आंखों की रोशनी लौटा चुकी हैं ये डॉक्टर, डर दूर करके करती है इलाज

Posted by - August 29, 2018 0
नई दिल्ली। आंखें हमारे शरीर का सबसे नाजुक अंग होती हैं। अगर इनकी ठीक तरीके से देखभाल ना की जाए…

गुजरात चुनाव: रोड शो कैंसिल होने पर पीएम मोदी का प्‍लान बी, साबरमती में उतारा सी-प्‍लेन

Posted by - December 12, 2017 0
अहमदाबाद: गुजरात में दूसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार के अंतिम दिन चुनावी सफर के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *