CBSE 12वीं के रिजल्ट में यूपी का दबदबा, नोएडा की मेघना भारत में टॉपर

99 0

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने 12वीं के नतीजे घोषित कर दिए हैं। लड़कियों ने फिर इम्तिहान में बाजी मारी है, लेकिन इसमें यूपी का दबदबा दिखा है। ऑल इंडिया टॉपर्स की लिस्ट में सबसे ऊपर नोएडा की मेघना श्रीवास्तव का हैं। वो 500 नंबरों में से 499 नंबर लाई हैं। टॉप 10 स्टूडेंट्स में से 5 नोएडा और गाजियाबाद के स्कूलों से हैं।

ये कहते हैं सीबीएसई 12वीं के नतीजे
नतीजों के मुताबिक लड़कियों के पास होने का प्रतिशत हर साल की तरह इस बार भी लड़कों से बेहतर रहा। लड़कियों की तुलना में 9.32 फीसदी लड़कियां पास हुईं। नतीजों में त्रिवेंद्रम रीजन में 97.32 फीसदी बच्चे पास हुए। दूसरे नंबर पर 93.87 फीसदी बच्चे और 89 फीसदी के साथ दिल्ली तीसरे नंबर पर रहा।

मेघना के अलावा ये भी हैं टॉपर
मेघना श्रीवास्तव ने देश में टॉप किया है। वहीं, गाजियाबाद की अनुष्का चंद्रा ने 498 नंबर लाकर टॉपर्स लिस्ट में दूसरा स्थान हासिल किया है। इनके अलावा मानसी भी टॉपर्स लिस्ट में हैं। तीसरे स्थान पर 6 स्टूडेंट एक साथ हैं। इनमें लुधियाना की आस्था बांबा, जयपुर की चाहत भारद्वाज, हरिद्वार की तनुजा कापड़ी,नोएडा की सुप्रिया कौशिक, गाजियाबाद के नकुल गुप्ता और क्षितिज आनंद के साथ मेरठ की अनन्या सिंह हैं। इन सभी को 497 अंक मिले हैं। मेघना ने  इतिहास -100/100 , भूगोल-100/ 100 ,  मनोविज्ञान -100/100 , अर्थशास्त्र -100/100 ,इंग्लिश कोर -99 /100  नंबर हासिल किया है।

व्यांग छात्रों ने भी सफलता के झंडे फहराए

इस बार 2836 दिव्यांग छात्रों ने 12वीं की परीक्षा दी थी। इनमें से 2482 छात्र पास हुए। लड़कियों का कुल पास प्रतिशत 88.31 है और लड़कों का 78.99 फीसदी रहा। 2017 में पास बच्चों का कुल प्रतिशत 92.02 था जो इस बार बढ़कर 94.94 फीसदी रहा है। पास हुए छात्रों में जवाहर नवोदय विद्यालय और सेंट्रल स्कूल का प्रतिशत काफी अच्छा रहा है। नवोदय के 97.07 और सेंट्रल स्कूल के 97.78 फीसदी छात्र पास हुए हैं।

Related Post

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बड़ा झटका, अजित जोगी की पार्टी संग मिलकर चुनाव लड़ेगी BSP

Posted by - September 20, 2018 0
मायावती ने कहा – जनता कांग्रेस के अध्‍यक्ष अजीत जोगी ही होंगे गठबंधन के मुख्‍यमंत्री का चेहरा रायपुर। छत्तीसगढ़ में…

रोजाना बच्ची को गोद में लेकर 6Km पैदल चलकर पढ़ाने जाती हैं श्वेता, दूर-दूर तक नहीं है कोई साधन

Posted by - November 12, 2018 0
    पावन मिश्रा बहराइच। सरकारी स्कूल में टीचर्स के बारे में अक्सर खबरें छपती रहती हैं कि वे टाइम…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *