मायावती ने किया संगठन में बड़ा फेरबदल, भाई आनंद को उपाध्यक्ष पद से हटाया

42 0
  • रामअचल राजभर बने राष्‍ट्रीय महासचिव, आरएस कुशवाहा को सौंपी उत्‍तर प्रदेश बसपा की कमान
  • वीर सिंह व जयपाल सिंह राष्‍ट्रीय संयोजक बने, राजभर को मध्‍यप्रदेश, उत्‍तराखंड व बिहार का प्रभार

लखनऊ। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने संगठन में बड़ा फेरबदल किया है। भाई-भतीजावाद के आरोपों से बचने के लिए अपने भाई आनंद कुमार को राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष के पद से हटा दिया है। इसके अलावा उन्‍होंने राम अचल राजभर को पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव नियुक्‍त किया है, जबकि आरएस कुशवाहा को यूपी के प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी है। राजभर अभी तक यूपी बीएसपी के प्रदेश अध्यक्ष थे।

संगठन में सृजित किए दो नए पद

बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा शनिवार (26 मई) को यहां बुलाई गई पार्टी बैठक में कई अहम फैसले लिये गए। मायावती ने पार्टी संविधान में संशोधन करते हुए संगठन में राष्‍ट्रीय संरक्षक और राष्‍ट्रीय संयोजक के दो नए पद भी बनाए हैं। राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष की उम्र अधिक होने पर यदि वह फील्‍ड में काम करने में खुद को असमर्थ पाता है तो उसकी सहमति से उसे राष्‍ट्रीय संरक्षक बनाया जाएगा। इसके बाद जो भी राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनेगा, वह राष्‍ट्रीय संरक्षक के निर्देशन में काम करेगा। उधर, राष्‍ट्रीय संयोजक के तौर पर वीर सिंह और जयपाल सिंह को नियुक्‍त किया गया है। वहीं रामअचल राजभर को मध्‍य प्रदेश, उत्‍तराखंड और बिहार का प्रभारी भी बनाया गया है।

बूथ स्‍तर पर पार्टी को मजबूत करने के निर्देश

बैठक में मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं से 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी में अभी से जुट जाने के लिए कहा। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आगामी चुनाव में मात देने और लोकसभा चुनावों में बसपा की जीत सुनिश्चित करने के लिए कार्यकर्ताओं से बूथ स्‍तर पर पार्टी को मजबूत करने के निर्देश दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि कार्यकर्ता बूथ स्‍तर पर आम लोगों से मुलाकात करें, पार्टी का प्रचार करें और पीएम मोदी की सरकार के चार साल के कार्यकाल की असफलताओं को लोगों को बताएं।

मोदी सरकार पर बोला हमला

बैठक के दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती मोदी सरकार पर भी जमकर बरसीं। उन्होंने कहा कि केंद्र में बीजेपी सरकार के चार साल पूरे हो गए हैं, लेकिन मोदी सरकार देश के गरीबों, किसानों, मजदूरों की समस्याओं को दूर करने और महंगाई में लगाम लगाने में विफल रही है। पेट्रोल और डीजल की कीमतें आज अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं। मायावती ने कहा कि बीजेपी के शासनकाल में दलितों और मुसलमानों के खिलाफ अत्याचार के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि बीजेपी और आरएसएस के लोग कानून की धज्जियां उड़ा रहे हैं। कठुआ और उन्नाव कांड इस बात को साबित करते हैं। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि मोदी सरकार बड़े पूंजीपतियों और धन्नासेठों के आगे नतमस्तक है। देश के लोगों का पैसा सुरक्षित नहीं है और चारों ओर अव्यवस्था व अराजकता फैली हुई है।

पेट्रोल की कीमतें नहीं घटीं तो देशव्‍यापी प्रदर्शन

बैठक में बसपा के महासचिव सतीश मिश्र ने कहा कि अगर मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल के दामों में जल्‍द ही कमी नहीं करती है तो बसपा पूरे देश में धरना-प्रदर्शन करेगी। बता दें कि पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम को लेकर कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दल भी मोदी सरकार पर निशाना साध चुके हैं। हालांकि मोदी सरकार इनके दाम कम करने के लिए मजबूत कदम उठाने की बात कह रही है।

Related Post

CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाने की तैयारी में कांग्रेस

Posted by - March 27, 2018 0
कांग्रेस ने ड्राफ्ट बनवाकर कई पार्टियों के पास बंटवाया, साथ आए करीब आधा दर्जन दल नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चार…

ब्रिटेन में दांत की बीमारियां बनीं देशव्यापी संकट, बीडीए ने जताई चिंता

Posted by - May 27, 2018 0
लंदन। ब्रिटेन के नागरिकों में दांतों की समस्‍या बड़े पैमाने पर सामने आ रही है। यहां के बाशिंदों के दांतों…

जम्मू-कश्मीर : रमजान में आतंकियों के खिलाफ सेना नहीं चलाएगी अभियान

Posted by - May 16, 2018 0
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुरक्षाबलों को जारी किए निर्देश, लेकिन हमला हुआ तो जवाब देगी सेना नई दिल्ली। केंद्र सरकार…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *