VIDEO: गुजरात के राजकोट में दलित की पीट-पीटकर ले ली जान

97 0

राजकोट। असहिष्णुता का दौर फिर देश में लौटता दिख रहा है। सतना में गोहत्या के आरोप में एक शख्स की पीट-पीटकर जान लेने के बाद अब ऐसा ही मामला गुजरात के राजकोट में सामने आया है। यहां एक दलित युवक की पीट-पीटकर जान ले ली गई। हत्या का आरोप एक फैक्ट्री के मालिक पर है। दलित को पीटे जाने का वीडियो वायरल होने के बाद मामले का खुलासा हुआ है।

दलित नेता ने वीडियो किया ट्वीट
दलित नेता और कांग्रेस विधायक जिग्नेश मेवाणी ने दलित युवक को पीटे जाने का वीडियो ट्विटर पर लगाया है। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री के मालिक ने दलित की पत्नी को भी पहले जमकर पीटा। वीडियो में साफ दिखता है कि दलित को फैक्ट्री के गेट से रस्सी से बांधा गया और फिर लोहे के रॉड से उसकी जमकर पिटाई की गई।
कौन था मृत युवक ?
मिली जानकारी के मुताबिक मृत दलित 40 साल का था। उसका नाम मुकेश सावजी वानिया था। वो अपनी पत्नी के साथ कचरा बीनने रविवार को निकला था। एक फैक्ट्री के पास मुकेश और उसकी पत्नी कचरा बीनने लगे। उसी वक्त फैक्ट्री से कुछ लोग आए और दोनों को कचरा बीनने से मना किया। मुकेश ने इसका विरोध किया। इस पर उसे और पत्नी को फैक्ट्री से आए लोगों ने पकड़ लिया और पिटाई शुरू कर दी। मुकेश की पत्नी को उन लोगों ने कुछ देर बाद भगा दिया, लेकिन मुकेश को पीटते रहे।
फैक्ट्री मालिक ने बाद में पीटा
पहले फैक्ट्री के लोगों ने मुकेश की जमकर पिटाई की। जिसके बाद फैक्ट्री का मालिक भी मौके पर पहुंचा और उसने लोहे की रॉड से मुकेश को पीटना शुरू कर दिया। बेहोशी की हालत में मुकेश को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में दलित उत्पीड़न के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक मुकेश और उसका परिवार गुजरात के ही सुरेंद्रनगर का रहने वाला है। पांच दिन पहले ही वो काम की तलाश में पत्नी, बेटी और बेटे के साथ राजकोट आया था।

 https://twitter.com/jigneshmevani80/status/998248749649547264

Related Post

बीजेपी शसित राज्यों में मिड-डे मील में नहीं दिए जा रहे हैं अंडे, रिपोर्ट में सामने आई सच्चाई

Posted by - August 1, 2018 0
नई दिल्ली। देश के सरकारी स्कूलों में मिड-डे मील स्कीम के तहत बच्चों के खाने में बॉइल्ड अंडे शामिल होना…

केंद्रीय मंत्री के बिगड़े बोल, कहा – रेप की एक-दो घटनाओं पर बात का बतंगड़ न बनाएं

Posted by - April 22, 2018 0
संतोष गंगवार बोले – ऐसी घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण, मगर इतने बड़े देश में कभी-कभी उन्‍हें रोका नहीं जा सकता बरेली। कठुआ…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *