#KarnatakaResults: जानिए किन वजहों से बीजेपी ने ढहाया कांग्रेस का दुर्ग

23 0

नई दिल्ली। कर्नाटक में कांग्रेस को हराने वाली बीजेपी में उत्साह का माहौल है। पांच दोबारा दक्षिण के इस राज्य में सत्ता पर काबिज होने जा रही है। हालांकि, चुनाव प्रचार के दौरान एक बार लग रहा था कि बीजेपी शायद ही कर्नाटक जीत सके, लेकिन कई वजहें ऐसी रहीं जिन्होंने पासा बीजेपी के पक्ष में पलट दिया। आइए जानते हैं, ये वजहें कौन सी रहीं-

-पीएम नरेंद्र मोदी ने जोशीले भाषण दिए और कांग्रेस को जमकर घेरा।
-मोदी ने विकास का नारा दिया, वहीं कांग्रेस दूसरे मुद्दों पर बीजेपी को घेरती रही।
-मोदी ने कर्नाटक मे 17 से ज्यादा रैलियां की। नमो एप के जरिए वो कार्यकर्ताओं से जुड़े और इससे बीजेपी को फायदा हुआ।
-अमित शाह ने बूथ लेवल तक कार्यकर्ताओं को पार्टी से जोड़कर रखा। कांग्रेस ऐसा नहीं कर सकी।
-1985 के बाद कर्नाटक में दोबारा किसी ने सरकार नहीं बनाई। सीएम सिद्धरमैया के खिलाफ भी माहौल बना हुआ था। इसे बीजेपी ने समझा और उन जगहों पर चोट की, जहां कांग्रेस कमजोर थी।
-सिद्धरमैया पर जाति आधारित और अल्पसंख्यकों के तुष्टिकरण को लेकर भी बीजेपी ने जमकर हमला बोला।
-कांग्रेस का लिंगायतों को अलग धर्म का दर्जा देने वाला कार्ड भी नहीं चल सका।
-लिंगायतों के बड़े नेता माने जाने वाले येदियुरप्पा और दलित नेता बी. श्रीरामुलु से बीजेपी को फायदा हुआ। 2012 में दोनों बीजेपी छोड़कर चले गए थे।

Related Post

जनकपुर में बोले पीएम मोदी – ‘नेपाल के बिना हमारे राम और धाम अधूरे’

Posted by - May 12, 2018 0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा – भारत और नेपाल की मित्रता आज की नहीं, त्रेता युग की काठमांडू। प्रधानमंत्री नरेंद्र…

राजस्थान के करौली में हिंसा भड़की, दलित विधायक-पूर्व एमएलसी के घर फूंके

Posted by - April 3, 2018 0
जयपुर। एससी/एसटी एक्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ सोमवार को हुए भारत बंद में हिंसा भड़की थी।…

वर्ल्ड फूड इंडिया फेस्ट : पीएम मोदी ने दुनिया को बताए खिचड़ी के गुण

Posted by - November 3, 2017 0
नयी दिल्ली : वर्ल्ड फूड फेस्ट‍िवल की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश की राजधानी दिल्ली में की. इस अवसर…

उत्‍तर प्रदेश के नगर निकाय चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ

Posted by - December 1, 2017 0
14 नगर निगमों में भाजपा राज, अलीगढ़-मेरठ में बसपा जीती, सपा-कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला नवगठित अयोध्या, फिरोजाबाद, मथुरा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *