सर्वे : जनता के भरोसे पर खरी उतरी मोदी सरकार, 56% लोग काम से संतुष्ट

43 0
  • कम्यूनिटी सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म लोकल सर्किल्स ने मोदी सरकार के चार साल के कामकाज पर किया सर्वे

नई दिल्ली। एनडीए की पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार अपना चार साल का कार्यकाल पूरा करने जा रही है। मोदी सरकार अपने कामकाज और तरीकों को लेकर लगातार विपक्ष के निशाने पर रही है। पूरे देश में इस पर बहस छिड़ी है कि पीएम मोदी अपने वादे पूरे करने में कितने सफल रहे। इस बीच एक संस्था ने मोदी सरकार के चार साल के कामकाज पर सर्वे किया है, जिसके नतीजे सरकार और बीजेपी को राहत देने वाले हैं। इस सर्वे में देश के 56 प्रतिशत लोगों ने मोदी सरकार में अपना भरोसा जताया है। उनका कहना है कि सरकार अपने वादों को पूरा करने के लिए सही दिशा में काम कर रही है।

किसने किया सर्वे ?

कम्यूनिटी सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म लोकल सर्किल्स मोदी सरकार के कामकाज पर यह सर्वे किया है। इस सर्वे में 23 अलग-अलग मानकों मसलन – जीवन स्तर, सांप्रदायिकता, रोजगार, महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराध पर लोगों से राय मांगी गई थी। सर्वे के मुताबिक 56 प्रतिशत लोगों का कहना है कि मोदी सरकार वादे पूरे करने में कामयाब रही और सही रास्ते पर जा रही है। हर 10 में से 6 लोगों का मानना है कि मोदी सरकार लोगों की उम्मीदों पर खरी उतरी है या उससे आगे बढ़कर काम किया है।

लोगों ने माना – डीबीटी, जीएसटी और नोटबंदी से राहत

सर्वे के अनुसार, 54 प्रतिशत से ज्यादा लोगों का मानना है कि मोदी सरकार में टैक्स टेररिज्म कम हुआ है। उन्‍होंने डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) योजना को सफल करार दिया है। सर्वे में 32 प्रतिशत लोगों का कहना है कि जीएसटी के बाद उनका रोजमर्रा का खर्च घटा है, जबकि 60 फीसदी लोगों का कहना है कि उन्होंने कीमतों में कोई खास बदलाव नहीं अनुभव किया। हालांकि लोगों ने यह जरूर कहा कि जीएसटी और नोटबंदी के बाद कुछ हद तक कीमतें स्थिर रही हैं।

तीन चौथाई ने किया पाक-नीति का समर्थन

सर्वे में शामिल करीब तीन-चौथाई लोगों ने पाकिस्तान के प्रति मोदी सरकार के नीतियों का समर्थन किया है। सर्वे में शामिल 54 प्रतिशत लोगों ने माना कि मोदी सरकार के फैसलों की वजह से आतंकवादियों को मिलने वाली आर्थिक मदद में कमी आई है, जिसकी वजह से उनकी कमर टूट रही है। मुठभेड़ में आतंकियों के मारे जाने की संख्‍या में भी इजाफा हुआ है।

पिछले साल के मुकाबले लोकप्रियता घटी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल 2017 में इसी सर्वे में 59% लोगों ने सरकार को विश्‍वसनीय बताया था, यानी कह सकते हैं कि एक साल में सरकार की लोकप्रियता में 3 प्रतिशत की गिरावट आई है। वहीं, 2016 में यह आंकड़ा 64% था। इस लिहाज से सरकार की विश्वसनीयता में लगातार कमी आ रही है।

Related Post

मेघालय में उग्रवादी हमले में एनसीपी प्रत्याशी जोनाथन संगमा की मौत

Posted by - February 19, 2018 0
हमले में जोनाथन के सुरक्षाकर्मी और दो एनसीपी कार्यकर्ताओं की भी मौत 2013 के विधानसभा चुनावों में भी मिली थी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *