पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनाव में भारी हिंसा, 12 लोगों की गई जान

71 0
  • भाजपा ने की राज्‍य में तुरंत राष्‍ट्रपति शासन लगाने की मांग, TMC ने बताया मामूली घटना

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनाव में सोमवार (14 मई) को वोटिंग के दौरान राज्य के कई हिस्सों से बड़े पैमाने पर हिंसा हुई। इस हिंसा में अब तक 12 लोगों के मारे जाने की खबरें हैं, जबकि 50 से अधिक लोग घायल हो गए। तृणमूल कांग्रेस ने जहां इस हिंसा को मामूली घटना बताया, वहीं भाजपा ने पश्चिम बंगाल में तुरंत राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है। उधर, सीपीआईएम ने इस चुनावी हिंसा के लिए टीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है। पंचायत चुनाव में करीब 72 प्रतिशत वोटिंग होने की खबर है।

जगह-जगह बीजेपी, लेफ्ट व टीएमसी कार्यकर्ता भिड़े

पंचायत चुनाव में हुई भारी हिंसा से राज्य में सुरक्षा के इंतजामों की पोल खुल गई है। कई जगह हिंसा ने उग्र रूप ले लिया। राज्य के कई इलाकों में हालात काफी गंभीर हैं। सत्ताधारी टीएमसी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच कई जगह खूनी संघर्ष हुआ, वहीं टीएमसी और लेफ्ट के बीच भी सड़कों पर संघर्ष हुआ। लोग लाठी-डंडों से एक-दूसरे की पिटाई करते दिखे। जगह-जगह लूट, बमबाजी, आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं भी हुईं।

राज्‍य में कहां-कहां हुई हिंसा ?

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना, बर्द्धवान, कूचबिहार और दक्षिण 24 परगना जिलों से हिंसा की रिपोर्टें मिली हैं। सुबह वोटिंग शुरू होते ही शांतिपुर में हुई हिंसा में 1 व्यक्ति की मौत हो गई, वहीं 24 परगना जिले के कुलतोली में एक टीएमसी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। नॉर्थ 24 परगना के अमडंगा में सीपीएम कार्यकर्ता की जान चली गई तो मुर्शिदाबाद में एक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई। दक्षिण दिनाजपुर जिले के तपन इलाके में एक मतदान केंद्र के बाहर बम फेंका गया जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए।

और कहां हुआ खूनी संघर्ष ?

नंदीग्राम में निर्दलीय उम्मीदवार के दो समर्थकों की झड़प के दौरान मौत हुई है। पटकेलबारी इलाके में टीएमसी कार्यकर्ताओं के हमले में निर्दलीय उम्मीदवार के समर्थक शाहिद शेख की जान चली गई। वहीं, नादिया जिले के नकासीपुरा में पोलिंग बूथ से लौट रहे टीएमसी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बेलदांगा में बीजेपी कार्यकर्ता तपन मंडल की हत्या करने की खबर है। जलपाईगुड़ी के शिकारपुर में तो उपद्रवियों ने बैलट बॉक्स को ही फूंक दिया।

पत्रकार भी आए हिंसा की चपेट में

पश्चिम बंगाल की चुनावी हिंसा की चपेट में चुनाव कवर कर रहे स्थानीय पत्रकार भी आ गए। करीब पांच पत्रकार हिंसा में घायल हुए हैं। पत्रकारों का कहना है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने उनके ऊपर हमला बोला और उन्हें बुरी तरह पीटा।

हाईकोर्ट ने गृह सचिव, चुनाव आयुक्त को भेजा समन

पश्चिम बगांल में पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा के मामले में कोलकाता हाईकोर्ट मुख्य न्यायाधीश ने कोर्टरूम में हिंसा की लाइव फुटेज देखने के बाद चुनाव आयुक्‍त और गृह सचिव को समन जारी कर उनसे रिपोर्ट मांगी है। मुख्य न्यायाधीश ने कोर्ट रूम में ही मोबाइल पर हिंसा की तस्वीरें देखीं। जज ने यह भी कहा कि यदि कोई अन्य वकील इस मामले में नया केस फाइल करना चाहता है तो वह भी कर सकता है।

गृह मंत्रालय ने ममता सरकार से मांगी रिपोर्ट

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी पंचायत चुनाव में हुई हिंसा पर ममता बनर्जी सरकार से विस्‍तृत रिपोर्ट मांगी है। मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि राज्‍य सरकार से कहा गया है कि हिंसा को जन्म देने वाली परिस्थितियों और शांति बहाल करने तथा हिंसा में शामिल लोगों को दंडित करने के लिए उठाए गए कदमों की विस्तृत रिपोर्ट सौंपे।

Related Post

माल्या प्रकरण : ब्रिटेन की जज बोलीं – भारतीय बैंकों ने खुद तोड़े अपने नियम

Posted by - March 17, 2018 0
जज ने कुछ बैंककर्मियों पर लगे आरोपों को समझाने के लिए भारतीय अधिकारियों को किया ‘आमंत्रित’  नई दिल्‍ली/लंदन। वित्तीय संस्थाओं के…

मणिशंकर बोले – मां-बेटे के रहते किसी का कांग्रेस अध्यक्ष बनना नामुमकिन

Posted by - October 8, 2017 0
वरिष्‍ठ कांग्रेसी ने कहा – कांग्रेस में परिवारवाद की परिपाटी शुरू से, जो शायद कभी खत्म नहीं होगी कसौली (सोलन)। ‘कांग्रेस…

लैंडिंग के वक्त फिसला विमान, रनवे की जगह समंदर में जा घुसा, बाल-बाल बचे 47 यात्री

Posted by - September 28, 2018 0
वेलिंगटन। न्यूजीलैंड के माइक्रोनेशियन द्वीप पर हुए एक हादसे में 47 लोगों की जान बाल-बाल बच गई। दरअसल, पापुआ न्‍यूगिनी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *