मोदी ने कहा था- लेने के देने पड़ जाएंगे, राष्ट्रपति से कांग्रेस बोली- पीएम ने दी धमकी

90 0

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने कर्नाटक में एक चुनावी जनसभा में कांग्रेस को चुनौती देते हुए कहा था – ‘ये मोदी है मोदी, कांग्रेस को लेने के देने पड़ जाएंगे।’ मोदी की इस चुनौती को कांग्रेस के नेता धमकी मान रहे हैं। उन्होंने इसकी शिकायत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से की है।

चिट्ठी में कांग्रेस ने क्या लिखा ?

पीएम मोदी के खिलाफ कांग्रेस ने राष्ट्रपति को जो शिकायती पत्र भेजा है, उसमें पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और कांग्रेस के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं के दस्तखत हैं। कांग्रेस का कहना है कि प्रधानमंत्री कांग्रेस को धमका रहे हैं।

कांग्रेस नेताओं द्वारा राष्ट्रपति को लिखा गया पत्र
कांग्रेस नेताओं द्वारा राष्ट्रपति को लिखा गया पत्र

हुबली में मोदी ने दिया था भाषण

बता दें कि कांग्रेस ने मोदी के जिस बयान को धमकी भरा बताया है, वो हुबली में दिया गया था। कांग्रेस ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि देश के प्रधानमंत्री को किसी के खिलाफ इस प्रकार की भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

मोदी ने क्या कहा था ?

मोदी ने हुबली में जनसभा के दौरान कहा था – ‘ऐसी पार्टी जिसके प्रमुख जमानत पर हैं, वो हमसे सवाल पूछ रही है। कांग्रेस के नेता कान खोलकर सुन लीजिए, अगर सीमाओं को पार करोगे तो ये मोदी है मोदी, लेने के देने पड़ जाएंगे।’

15 मई को आएंगे कर्नाटक चुनाव के नतीजे

बता दें कि कर्नाटक चुनाव के नतीजे 15 मई को आएंगे। राज्य की 224 में से 222 सीटों पर वोट पड़े हैं। नतीजों से पहले आए कई टीवी न्यूज चैनलों के एग्जिट पोल में त्रिशंकु विधानसभा की संभावना जताई गई है। 8 चैनलों में से 6 के एग्जिट पोल ने बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी बताया, जबकि दो ने भविष्यवाणी की कि कांग्रेस ही सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेगी।

Related Post

2028 तक दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा भारत : रिपोर्ट

Posted by - November 14, 2017 0
मुंबई : 2028 तक भारत तेज विकास दर के रथ पर सवार होकर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। अमेरिकी फर्म…

महाभियोग प्रस्ताव पर कांग्रेस दो फाड़, मनमोहन नाराज, खुर्शीद भी विरोध में

Posted by - April 20, 2018 0
नई दिल्ली। कांग्रेस समेत 7 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ राज्यसभा के सभापति…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *