महराजगंज में नेपाल बॉर्डर के पास वन विभाग ने बंद कराया अवैध बालू खनन

98 0
  • वन विभाग, पुलिस और एसएसबी की संयुक्‍त टीम ने मारा छापा, 18 साइकिलें और 2 बाइक बरामद

शिवरतन कुमार गुप्ता ‘राज़’

महराजगंज। जिले के निचलौल थाना क्षेत्र में भारत-नेपाल सीमा से सटे पथलहवा टेलफाल पुल के पास अर्जुनही में किए जा रहे अवैध बालू खनन को रेंजर एके चंद्रा ने मय फ़ोर्स मौके पर पहुंचकर बंद करा दिया है। वन विभाग, पुलिस और एसएसबी के संयुक्‍त अभियान में मौके से कई साइकिलें और बाइक बरामद की गई हैं।

अवैध खनन की मिली थी शिकायत

मिली जानकारी के अनुसार, निचलौल रेंज के अंतर्गत बैठवलिया बीट में अर्जुनही में खेत से सिल्ट निकालने के अनुमति की आड़ में वन भूमि क्षेत्र से अवैध बालू का खनन किया जा रहा था। क्षेत्रीय वन अधिकारी निचलौल अशोक चन्द्रा ने बताया कि उन्हें कई दिनों से अर्जुनही में अवैध बालू खनन की शिकायत मिल रही थी।

फोर्स के साथ मारा गया छापा

शिकायत मिलने के बाद वन अधिकारी ने सीओ निचलौल, थानाध्यक्ष निचलौल व कमान्डेंट एसएसबी (प्रथम बटालियन) नौतनवा से वार्ता कर फ़ोर्स की मांग की। रविवार (13 मई) सुबह करीब 8 बजे रेंज के वन कर्मचारी, चौकी इंचार्ज शीतलपुर सुरेंद्र सिंह व एसएसबी के 24 जवान वन अधिकारी सहित खनन स्थल पर पहुंचे, जहाँ अवैध रूप से बालू खनन हो रहा था। भारी-भरकम फोर्स को देखकर बालू खनन करने वाले रंगलाल, पुजारी, नरसिंह यादव, दिलीप सिंह, गोपाल यादव, वीरेन्द्र यादव, मौके से फरार हो गए। पीछा करने पर भी उन्‍हें पकड़ा नहीं जा सका। फ़ोर्स देखकर बालू निकालने वाले मजदूर भी नदी के उस पार दियरा क्षेत्र में भाग गए।

खनन माफियाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज

श्री चंद्रा ने बताया कि खनन कर रहे लोगों द्वारा नदी के किनारे बालू का ढेर लगाकर रखा गया था, जिसे नदी में गिरा दिया गया। मौके से 18 पुरानी साइकिलें और दो मोटरसाइकिलें बरामद हुई हैं। आरोपियों के विरुद्ध भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 26 तथा वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 27, 29, 51 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।

Related Post

अब 24 नवंबर से नहीं शुरू होगा वैष्णो देवी का वैकल्पिक मार्ग

Posted by - November 20, 2017 0
सुप्रीम कोर्ट ने लगाई राष्‍ट्रीय हरित प्राधिकरण (NGT) के फैसले पर रोक नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने वैष्णो देवी यात्रा के लिए…

स्कूल छोड़कर भैसों को चारा खिला रहा है योगेश, ऐसे बच्चे कैसे समझेंगे शिक्षा का महत्व?

Posted by - December 14, 2018 0
अंकज शुक्ल बहराइच। योगेश( काल्पनिक नाम) रोज सुबह जल्दी उठकर भैसों को चारा खिलाता है। गाय, भैंस की देखभाल वो…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *