जनकपुर में बोले पीएम मोदी – ‘नेपाल के बिना हमारे राम और धाम अधूरे’

101 0
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा – भारत और नेपाल की मित्रता आज की नहीं, त्रेता युग की

काठमांडू। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार (11 मई) को दो दिन की यात्रा पर नेपाल पहुंचे। सुबह जनकपुर में जनसभा करने के बाद दोपहर में पीएम मोदी नेपाल की राजधानी काठमांडू पहुंचे। यहां उन्‍होंने प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली, राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी, उपराष्ट्रपति नंद बहादुर पुन से मुलाकात की। इसके साथ ही उन्‍होंने अरुण तृतीय पनबिजली संयंत्र का शिलान्यास भी किया।

‘मां जानकी के बिना राम का अयोध्या अधूरा’

पीएम मोदी ने जनकपुर के बारहबीघा मैदान में नागरिक अभिनंदन समारोह को संबोधित करते हुए कहा, ‘भारत और नेपाल की मित्रता के लिए रामायण सर्किट अहम मुकाम है। हम दो देश हैं, लेकिन हमारी मित्रता आज की नहीं त्रेता युग की है।’ भगवान बुद्ध के लुंबिनी की महिमा को बताते हुए मोदी ने कहा, ‘भारत-नेपाल को भाषा, आस्था, अपनापन और रोटी-बेटी का रिश्ता एक सूत्र में बांधता है। मां जानकी के बिना राम का अयोध्या अधूरा है, हमारे धाम अधूरे हैं। हमारी माता, प्रकृति, संस्कृति, आस्था और प्रार्थना एक है। हमारी राह, मंसूबे और मंजिल भी एक हैं। नेपाल के बिना भारत की आस्था और विश्वास अधूरा है। इतिहास भी अधूरा है।’

जनकपुर के विकास के लिए 100 करोड़ दिए

प्रधानमंत्री ने नागरिक अभिनंदन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मां जानकी की पवित्र भूमि और आसपास के इलाके का विकास 100 करोड़ रुपये से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत रामायण सर्किट में उन सभी स्थलों को जोड़ रहा है, जहां-जहां भगवान राम के चरण पड़े थे। रामायण सर्किट के विकास से पर्यटन का विकास होगा और नेपाल और भारत के युवाओं को रोजगार मिलेगा। उन्होंने करीब 45 मिनट के अपने संबोधन की शुरुआत ‘जय सियाराम-जय सियाराम’ कहकर की।

PM मोदी ने किया हाइड्रो प्रोजेक्ट का शिलान्यास

पीएम मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए पूर्वी नेपाल के संखुवासभा जिले में स्थित अरुण तृतीय पनबिजली संयंत्र का शिलान्यास किया यह संयंत्र पूर्वी नेपाल के तुमलिंगतर क्षेत्र में स्थापित होगा। नेपाल में इस परियोजना के जरिये 1.5 अरब अमेरिकी डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) आने की संभावना है। इस संयंत्र के स्थापित होने से हजारों लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

‘भारत-नेपाल हर मुश्किल में एक दूसरे के साथ’

मोदी ने कहा कि भारत और नेपाल हर मुश्किल में एक-दूसरे के साझेदार रहे हैं और आगे भी रहेंगे। भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ रहा है। नेपाल भी तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि विकास की पहली शर्त लोकतंत्र है। भारत ने लोकतंत्र की शक्ति को महसूस किया है। नेपाल में एक वर्ष के भीतर तीन स्तर पर सफलतापूर्वक चुनाव संपन्न होने से विकास और तेज हुआ है। उन्होंने कहा कि दोनों देश हाईवे, आईवे, ट्रांसवे, रेलवे, इनलैंड वाटरवेज़, कस्टम चेकपोस्ट और हवाई सेवा से जुडेंगे।

Related Post

OMG : मिस्टर परफेक्शनिस्ट को मांगनी पड़ी किंग खान से मदद

Posted by - March 22, 2018 0
मुंबई। बॉलीवुड में मिस्टर परफेक्शनिस्ट के नाम से पहचान बनाने वाले  आमिर खान इन दिनों अपने ड्रीम प्रोजेक्ट पर आधारित सबसे बड़ी फिल्म करने जा रहे…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *