महाराष्ट्र के औरंगाबाद में सांप्रदायिक हिंसा, 2 लोगों की मौत, 30 जख्मी

82 0
औरंगाबाद। महाराष्ट्र के इस शहर में शुक्रवार को पेयजल की पाइप तोड़ने के छोटे से विवाद के बाद दो समुदायों के बीच हिंसा शुरू हो गई। दोनों तरफ से पथराव और आगजनी की घटनाएं हुईं। हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई है। 10 पुलिसकर्मियों समेत 30 से ज्यादा लोग हिंसा में घायल हुए हैं। घायलों में एसीपी गोवर्धन कोलेकर भी हैं।
अभी क्या हैं हालात ?
पुलिस के मुताबिक हिंसा प्रभावित इलाकों में बड़ी तादाद में पुलिसवालों को तैनात किया गया है। तनाव को देखते हुए पूरे औरंगाबाद जिले में धारा-144 लागू कर दी गई है। महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री दीपक केसरकर ने लोगों से अपील की है कि वे अफवाहों पर ध्यान ना दें।
ऐसे शुरू हुई हिंसा
औरंगाबाद में शुक्रवार देर रात दो समुदायों के बीच नल के कनेक्शन को तोड़ने पर विवाद शुरू हो गया। विवाद के कुछ देर बाद ही जिले में कई जगह तनाव का माहौल बन गया। इसके बाद दोनों समुदाय के लोग सड़कों पर उतरे एक-दूसरे पर पथराव करने लगे। इसी बीच, भीड़ में शामिल कुछ उपद्रवी तत्वों ने सड़क पर मौजूद वाहनों में तोड़फोड़ के बाद आगजनी शुरू कर दी। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े। इसका कुछ युवकों ने पथराव कर विरोध जताया।
एसीपी, दो इंस्पेक्टर समेत 30 घायल
हिंसा में एसीपी गोवर्धन कोलेकर, इंस्पेक्टर हेमंत कदम और इंस्पेक्टर श्रीपद परोपकारी समेत 10 पुलिसवाले घायल हुए। वैसे घायलों की कुल संख्या 30 से ज्यादा है। हिंसा वाले इलाकों में महाराष्ट्र पुलिस और सीआरपीएफ तैनात की गई है। बाजारों में कई दुकानों को भी बलवाइयों ने जमकर आगजनी की।

Related Post

इंसानियत शर्मसार : महिला गिड़गिड़ा रही थी – ‘कपड़े मत उतारो’, पर किसी ने नहीं सुनी

Posted by - July 7, 2018 0
उदयपुर के पास एक गांव में प्रेमी युगल को निर्वस्त्र कर रस्सी से बांध पूरे गांव में घुमाया उदयपुर। शहर से…

पीएम ने किया तंज – जाने से पहले नहीं बोल पाए सांसद, इसके लिए हम सब जिम्मेदार

Posted by - March 28, 2018 0
राज्यसभा से रिटायर हो रहे सांसदों को पीएम मोदी ने दीं शुभकामनाएं, उनके योगदान को सराहा  नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *