इलाहाबाद में दिनदहाड़े वकील की गोली मारकर हत्या, गुस्साए लोगों ने काटा बवाल

27 0
  • वकीलों में भारी आक्रोश, कई जगह उग्र प्रदर्शन और नारेबाजी, एक बस को आग के हवाले किया

इलाहाबाद। सरकार के तमाम दावों के बावजूद प्रदेश में अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। गुरुवार को शहर के पॉश इलाके कर्नलगंज में मनमोहन पार्क के पास एडवोकेट राजेश कुमार श्रीवास्तव की दो बाइक सवारों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद गुस्‍साए वकीलों ने बवाल शुरू कर दिया। नारेबाजी, प्रदर्शन और पथराव के बीच एक बस को आग लगा दी गई। बता दें कि यह घटना ऐसे समय पर हुई है जब प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी अपराध व कानून व्यवस्था की समीक्षा करने इलाहाबाद पहुंचे हैं।

गोली लगने के बाद सड़क पर पड़ा एडवोकेट राजेन्द्र श्रीवास्तव का शव

कचहरी जा रहे थे एडवोकेट राजेंद्र

बताया जा रहा कि गुरुवार (10 मई) सुबह करीब 10.30 बजे एडवोकेट राजेंद्र श्रीवास्‍तव कचहरी जाने के लिए निकले थे। वह जनपद न्यायालय में वकालत करते थे। जैसे ही वह कर्नलगंज के मनमोहन पार्क के पास पहुंचे, बाइक से आए कुछ लोगों ने उनको कनपटी से सटाकर गोली मार दी। राजेंद्र के जमीन पर गिरते ही बाइक सवार वहां से भाग निकले। गोलियों की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़े। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। राजेंद्र को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

वकीलों में आक्रोश, पथराव और आगजनी की

राजेंद्र की हत्‍या की सूचना मिलते ही वकीलों की भीड़ अस्पताल और घटनास्थल पर जमा हो गई। इस घटना से वकीलों में भारी आक्रोश है। इसके बाद सैकड़ों वकीलों ने बवाल करना शुरू कर दिया। कुछ जगहों पर नारेबाजी और प्रदर्शन हुआ तो कई जगह वकीलों ने पथराव शुरू कर दिया। उन्‍होंने पास से गुजर रही एक बस में आग लगा दी। बवाल बढ़ता देख मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है, इसके बावजूद वकीलों का प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है।

हत्‍या के पीछे जमीन विवाद !

एसएसपी आकाश कुलहरि वकील की हत्या के पीछे जमीन का विवाद बता रहे हैं। उनका कहना है कि राजेश श्रीवास्तव जमीन किसी पुराने केस में पैरवी कर रहे थे। इसे विडम्‍बना ही कहेंगे कि डीजीपी शहर में अपराध की समीक्षा कर रहे हैं और बीच सड़क पर दिनदहाड़े एक वकील की हत्या कर दी गई। प्रत्‍यक्षदर्शियों का कहना है कि जिस जगह वारदात हुई, वहां से कुछ ही देर पहले डीजीपी और मुख्‍य सचिव का काफिला गुजरा था।

दो दिन पहले ही भाजपा नेता की हुई थी हत्‍या

बता दें कि इलाहाबाद में पिछले कुछ दिनों से आपराधिक घटनाओं में काफी बढ़ोतरी हुई है। अभी दो दिन पहले ही फूलपुर में भाजपा नेता पवन केसरी की हत्या कर दी गई थी। कुछ दिन पहले यूको बैंक में डकेती पड़ी और लुटेरे 17 लॉकर काटकर 10 करोड़ के गहने लूट ले गए। अभी तक इनमें एक भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। यही नहीं, दो पहले ही नवाबगंज में स्कूल प्रबंधक को सरे बाजार पीटकर मार डाला गया था।

Related Post

अति पिछड़े व अति दलितों को आरक्षण देने पर विचार कर रही योगी सरकार

Posted by - March 22, 2018 0
यूपी सरकार इसके लिए जल्द ही गठित करेगी एक समिति, जो सरकार को सौंपेगी रिपोर्ट लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *