यूपी में एक हफ्ते में दूसरी बार आई जानलेवा आंधी, 17 लोगों की जान गई

74 0

लखनऊ उत्‍तर प्रदेश में एक हफ्ते के भीतर आंधी-तूफ़ान ने बुधवार (9 मई) को दूसरी बार तबाही मचाई है। बुधवार शाम 4 बजे के बाद आए आंधी-तूफ़ान में 13 लोगों को जान गंवानी पड़ी है। मथुरा में 3, इटावा में 4, वहीं आगरा, कानपुर और अलीगढ़ में तूफान ने 2-2 लोगों की जान ले ली। इसके अलावा हाथरस, एटा, फिरोजाबाद और बुलंदशहर में एक-एक व्‍यक्ति की मौत हो गई है।

कई के आशियाने उजड़े

आंधी-तूफान ने कई लोगों के आशियाने उजाड़ दिए। कई जगह तेज हवा से पेड़-पौधे भी उखड़ गए। ज़्यादातर लोगों की मौतें कच्चे घरों की छत और बिजली के खंभे गिरने के कारण हुई। कुछ की मौत आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हुई। कई पशुओं के भी हताहत होने की ख़बर है। प्रभावित क्षेत्रों में राहत पहुंचाने का काम चल रही है।

तुरंत राहत पहुंचाने का निर्देश
प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने बताया कि प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे लोगों तक तत्काल या गुरुवार सुबह तक राहत पहुंचाएं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे आगरा, अलीगढ़, मथुरा और फिरोजाबाद सहित प्रभावित जिलों में आंधी तूफान से हुए नुकसान का आकलन करें और उन्‍हें मुआवजा दें। इस कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

पिछले हफ्ते यूपी में हुई थीं 70 से ज्‍यादा मौतें

बता दें कि पिछले हफ्ते यूपी में आए तूफान से भीषण तबाही मची थी और 70 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी। उधर, बदलते मौसम को लेकर प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है। योगी सरकार ने अधिकारियों को तत्काल मौके का निरीक्षण कर प्रभावित परिवारों को आर्थिक मदद देने के निर्देश दिए हैं।

पहाड़ों पर हिमपात
उत्तराखंड और हिमाचल की पहाडि़यों पर पिछले 3-4 दिनों में भारी हिमपात और बारिश हुई है, जिसके कारण जगह -जगह पर्यटक फंसे हुए हैं। चमोली के जिलाधिकारी ने बताया कि संवेदनशीन लामबगड में भारी बारिश के बाद भूस्खलन के कारण 8 घंटे यातायात बंद रहा था। वहीं, रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी ने बताया कि केदारनाथ में अब मौसम साफ हो गया है और बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचने लगे हैं। हालांकि, दोपहर बाद अचानक वहां बादल छा गए और थोड़ी देर में बर्फबारी शुरू हो गई।

Related Post

प्रख्यात साहित्यकार व जनवादी लेखक दूधनाथ सिंह का निधन

Posted by - January 12, 2018 0
नई कहानी आंदोलन को चुनौती देने के बाद साठोत्तरी कहानी आंदोलन का सूत्रपात किया था इलाहाबाद। प्रसिद्ध कथाकार और जनवादी लेखक…

दिल्‍ली हाईकोर्ट ने पूछा-108 फुट ऊंची हनुमान मूर्ति कहीं और शिफ्ट कर सकते हैं

Posted by - November 21, 2017 0
दिल्ली हाईकोर्ट ने सिविक एजेंसियों को ये संभावना तलाशने का निर्देश दिया है कि क्या करोल बाग और झंडेवालान के…

बच्चा झूठ बोलता है तो मत होइए नाराज, इससे वे बनते हैं स्मार्ट और इंटेलिजेंट

Posted by - October 24, 2018 0
टोरंटो। अगर आपका बच्चा झूठ बोलता है, तो नाराज मत होइए। उसके झूठ बोलने की कला को सराहिए। ताजा रिसर्च…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *