OMG : शादी के 10 दिन बाद ही कराया पति का कत्ल, सुपारी में दी शादी की रिंग

106 0

हैदराबाद। कहते हैं पति और पत्नी एक-दूसरे के पूरक होते हैं। उनका रिश्‍ता सात जन्‍मों का होता है। ऐसे में अगर पत्‍नी ही पति की जान की दुश्‍मन बन जाए तो आप क्‍या कहेंगे ? ऐसा ही एक सनसनीखेज वाकया आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में सामने आया है, जहां एक महिला ने बदमाशों को सुपारी देकर अपने पति की हत्‍या करा दी। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा कि आरोपी महिला ने हत्‍यारों को सुपारी के रूप में अपनी शादी की रिंग दे दी।

10 दिन पहले ही हुई थी शादी

रिपोर्ट के अनुसार, इस जोड़े की शादी महज 10 दिन पहले इसी 28 अप्रैल को हुई थी। दरअसल, बताया जा रहा कि आरोपी सरस्‍वती का प्रेम संबंध मधु शिव नामक एक बेरोजगार बीटेक युवक से था। वह विशाखापत्तनम का रहने वाला है। दोनों फेसबुक पर संपर्क में आए थे और शादी करना चाहते थे। लेकिन सरस्वती के परिजनों ने उसकी शादी दूसरे युवक वाई गौरीशंकर से करा दी। गौरीशंकर एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर था, जो कर्नाटक के बेल्लारी में काम कर रहा था। बताया जा रहा कि सरस्‍वती को दूल्हा पसंद नहीं था, इसीलिए उसको रास्ते से हटाने के लिए प्रेमी के साथ मिलकर साजिश रची।

नाटकीय ढंग से हुआ खुलासा

इस मामले का खुलासा बड़े ही नाटकीय अंदाज में हुआ। 22 वर्षीय वाई. सरस्वती विजयनगरम जिले के पार्वतीपुरम थाने पहुंची। उसने पुलिस को बताया कि तीन लोगों ने उसकी शादी के आभूषण लूट लिए और उसके पति गौरीशंकर को मार डाला है। पुलिस लड़की की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए तत्काल आरोपी को पकड़ने में जुट गई। जब पुलिस ने हर एंगल से मामले की छानबीन की तो पाया कि लड़की का बयान विरोधाभासी था। इसी दौरान हत्या में लड़की की भागीदारी के सबूत मिलने पर पुलिसकर्मी भी हैरान रह गए।

योजना बनाकर कराई पति की हत्‍या

सरस्वती इस शादी से नाखुश थी और उसी ने पति को मारने की योजना बनाई थी, ताकि अपने प्रेमी मधु शिव के साथ रह सके। उसने कुछ बेरोजगार बीटेक युवाओं के गिरोह को अपनी शादी की अंगूठी एडवांस के रूप में देकर हत्या की जिम्‍मेदारी सौंपी। योजना के मुताबिक, सोमवार (7 मई) की रात करीब 8 बजे पति-पत्नी पति घर लौट रहे थे, तभी सरस्वती ने गौरीशंकर को बाइक रोकने के लिए कहा। जैसे ही बाइक रुकी तो आस-पास छिपे आरोपियों ने गौरीशंकर पर हमला कर दिया और उसे मार डाला। पुलिस ने बताया कि सरस्वती ने आरोपी को 8 हजार रुपये भी ऑनलाइन ट्रांसफर किए थे, जबकि उसके प्रेमी ने इस काम के लिए 10 हजार रुपये दिए थे। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर, सरस्‍वती और उसके सहयोगी को जेल भेज दिया है और अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *