आतंकी प्रोफेसर ने मारे जाने से पहले पिता को किया फोन, बोला – ‘माफ कर देना’

98 0

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के शोपियां में रविवार (6 मई) को सुरक्षाबलों को उस समय एक बड़ी सफलता मिली जब उन्‍होंने हिज्‍बुल के टॉप कमांडर समेत 5 आतंकियों को मुठभेड़ में मार डाला। इन आतंकियों में कश्मीर यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर मोहम्मद रफी भट भी शामिल था। बताया जा रहा कि मोहम्मद भट ने मुठभेड़ में मारे जाने से कुछ समय पहले अपने पिता को फोन किया और उनसे माफी भी मांगी थी।

क्‍या कहा मोहम्‍मद भट ने पिता से ?

रफी भट के परिवारीजनों के अनुसार, वह शुक्रवार से ही गायब था और उसके आतंकी बनने के बारे में परिवार को कोई जानकारी नहीं थी। अपने बेटे के साथ आखिरी बातचीत का जिक्र करते हुए रफी के पिता फयाज अहमद भट ने पुलिस को बताया कि रफी ने कहा, ‘अगर मैंने आपको दुख पहुंचाया है, तो उसके लिए माफी मांगता हूं। यह मेरा आखिरी कॉल है क्योंकि मैं अल्लाह से मिलने जा रहा हूं।’

सरेंडर के लिए कहा गया था भट से

सूत्रों के मुताबिक, सुरक्षाबलों को जब पता चला कि घेरे गए आतंकियों में एक कश्‍मीर यूनिवर्सिटी का प्रोफेसर भी है तो उससे सरेंडर करने के लिए कहा गया, लेकिन उसने सरेंडर नहीं किया। इसके बाद उसके मारे जाने की खबर आई। मोहम्मद रफी भट से सरेंडर करवाने के लिए सुरक्षा बल ने उनके परिजनों को भी गांदरबल के चुंदुना से घटनास्थल पर बुलाया था। रवि के पिता फयाज अहमद भट, रफी की मां, बहन और पत्नी के साथ मुठभेड़ स्थल पहुंचे। वहां पहुंचकर उन्हें पता चला कि एककाउंटर में उनके बेटे को मार दिया गया है।

शोपियां में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, हिज्बुल कमांडर समेत 5 आतंकी ढेर

कई दिन से गायब था मोहम्‍मद रफी भट

बता दें कि कश्मीर यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर रफी भट के गायब होने की रिपोर्ट सामने आने के एक दिन बाद ही यह खुलासा हुआ कि वह अब आतंकी बन चुका है। वह कई दिन से ही गायब था। परिवार की तरफ से रफी के गायब होने की बात सामने आने के बाद कश्मीर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने भी पुलिस को पत्र लिखा। इसके बाद पुलिस ने भट के गायब होने का मामला भी दर्ज किया था।

बुरहान वानी ब्रिगेड के थे मारे गए आतंकी

शोपियां में हुई इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिज्बुल के टॉप कमांडर सद्दाम पद्दार, कश्मीर विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर मोहम्मद रफी भट, तौसीफ शेख, मोलवी बिलाल व आदिल अहमद समेत 5 आतंकियों को मार गिराया। इसके साथ ही कश्‍मीर से बुरहानी वानी ब्रिगेड के ज्‍यादातर आतंकियों का सफाया हो गया है। बुरहान गैंग का आखिरी कमांडर था सद्दाम।

Related Post

भीमा कोरेगांव हिंसा : 5 लोगों की गिरफ्तारी पर SC ने केंद्र व राज्य सरकार से मांगा जवाब

Posted by - August 29, 2018 0
कोर्ट ने की तल्‍ख टिप्‍पणी, कहा – विरोध लोकतंत्र का सेफ्टी वॉल्व है, दबाएंगे तो विस्‍फोट हो जाएगा 5 सितंबर…

पुणे में सबसे बड़ी डिजिटल डकैती, हैकर्स ने बैंक से उड़ाए 94 करोड़ रुपये

Posted by - August 14, 2018 0
पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में सबसे पुराने सहकारी बैंकों में से एक कॉसमॉस बैंक में अबतक की सबसे बड़ी डिजिटल डकैती…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *