कर्नाटक चुनाव : सिद्धरमैया ने पीएम मोदी, शाह को भेजा मानहानि का नोटिस

126 0
  • नोटिस में कहा – बिना शर्त सार्वजनिक रूप से माफी मांगें या 100 करोड़ के मानहानि मुकदमे को तैयार रहें
  • रैलियों के दौरान पीएम मोदी और शाह द्वारा भ्रष्टाचार के आरोपों से बौखलाए कर्नाटक के सीएम सिद्धरमैया

बेंगलुरु। चुनावी रैलियों के दौरान पीएम मोदी और अमित शाह द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों से बौखलाए कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने सोमवार (7 मई) को प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह को मानहानि का कानूनी नोटिस भेजा है। 6 पन्‍नों के इस नोटिस में उन्‍हें कांग्रेस सरकार पर लगाए गए आरोपों के लिए माफी मांगने या फिर आपराधिक और दीवानी मानहानि के लिए तैयार रहने को कहा है। कांग्रेस ने धमकी दी है कि वह इस मामले में 100 करोड़ रुपये का मानहानि का मुकदमा करेगी।

क्‍या कहा गया है नोटिस में ?

मुख्‍यमंत्री सिद्धरमैया द्वारा भेजे गए इस नोटिस में पीएम मोदी और अन्य से मांग की गई है – ‘आप आगे से ऐसे बयान देने से परहेज करें और तत्काल इलेक्‍ट्रॉनिक, प्रिंट और सोशल मीडिया के जरिये बिना शर्त सार्वजनिक रूप से माफी मांगें जिसमें बयान और विज्ञापन आए हैं। ऐसा नहीं करने पर उन्हें विधिक कार्यवाही का सामना करना पड़ेगा।’ सिद्धरमैया ने अपने वकील और कांग्रेस एमएलसी वीएस उगरप्पा के जरिये भेजे नोटिस में कहा है कि सभी ने आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत दंडनीय अपराध किए हैं।

और किसको भेजा गया है नोटिस ?

सिद्धरमैया ने भाजपा के खिलाफ लड़ाई को और तेज करते हुए पार्टी और उसके मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येद्दयुरप्पा को भी नोटिस भेजा है। उनके खिलाफ कांग्रेस ने लगातार भ्रष्टाचार के आरोप लगाये हैं। इस नोटिस में उनसे बिना शर्त माफी मांगने या 100 करोड़ रुपये के मानहानि मामले का सामना करने को कहा गया है। बता दें कि कर्नाटक में 12 मई को चुनाव होने हैं और नतीजों की घोषणा 15 मई को की जाएगी।

पीएम मोदी ने सिद्धरमैया सरकार पर किए थे तीखे हमले

बता दें कि पीएम मोदी ने अपनी चुनावी रैलियों में मुख्‍यमंत्री सिद्धरमैया के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार को लेकर लगातार तंज कसे और हमले किए हैं। उनकी सरकार को ‘सीधा रुपैया सरकार’ और ‘10 प्रतिशत कमीशन सरकार’ कहा है। हिंदू कार्यकर्ताओं की हत्या के मुद्दे पर भी मोदी ने राज्य सरकार को घेरा था। मोदी ने अपने प्रचार अभियान के दौरान यह भी आरोप लगाया कि उनकी सरकार जहां व्यापार करने में आसानी की बात करती है, सिद्धरमैया सरकार ‘हत्या में सुगमता’ का माहौल दे रही है।

Related Post

जयललिता के पोइस गार्डन

जयललिता के पोइस गार्डन पर आयकर विभाग का छापा

Posted by - November 18, 2017 0
शशिकला और उनके समर्थकों के कमरे की तलाशी, लैपटॉप, पेन ड्राइव और डेस्क टॉप जब्त  चेन्नई: आयकर विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार देर…

मुलायम से उनके घर पर मिले अखिलेश, अधिवेशन में आने का दिया न्‍योता

Posted by - September 28, 2017 0
लखनऊ विधानसभा चुनाव से ठीक पहले समाजवाटी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और उनके बेटे अखिलेश यादव के बीच…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *