कर्नाटक चुनाव : पीएम मोदी ने उठाया दलितों के सम्मान का मुद्दा, सोनिया पर सीधा हमला

41 0
  • पीएम मोदी बोले – एक दलित देश के राष्ट्रपति बने, लेकिन एक बार भी मिलने नहीं गईं सोनिया गांधी
  • कर्नाटक के हुबली में चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा – जमानत पर बाहर हैं दोनों मां-बेटे

बेंगलुरु। कर्नाटक में अब मतदान में एक हफ्ते से भी कम समय बचा है, ऐसे में यहां सियासी महाभारत अपने चरम पर पहुंच गया है। वार-पलटवार का सिलसिला जोरों पर है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (6 मई) को कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी पर बड़ा हमला बोला। पीएम मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी तीखा हमला किया है।

क्‍या बोले प्रधानमंत्री मोदी ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कर्नाटक के जमाखंडी में एक रैली को संबोधित करते हुए दलितों के सम्मान का मुद्दा उठाया और सोनिया गांधी पर सीधा हमला किया। पीएम ने कहा, ‘दलित के बेटे राष्ट्रपति बने, लेकिन शिष्टाचार के नाते ही सही, सोनिया गांधी ने अभी तक एक बार भी राष्ट्रपति से मुलाकात नहीं की। उनका फर्ज बनता था, एक दलित राष्ट्रपति बने हैं तो उनसे मिलें.. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि दलित का राष्ट्रपति बनना इनको पसंद नहीं आया। एक साल हो गया, लेकिन मैडम सोनिया को हमारे देश के राष्ट्रपति को कर्टसी कॉल के लिए भी फुर्सत नहीं मिली।’

राहुल गांधी पर भी साधा निशाना 

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी राष्ट्रपति से मुलाकात करने में 7 महीने का वक्त लगा दिया। हालांकि वो भी कोई मुलाकात नहीं थी, बल्कि सोनिया गांधी के राजकुमार बेबी राष्‍ट्रपति को मेमोरैंडम देने गए थे।’ कांग्रेस के दलित प्रेम पर तंज करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘भाई देश का राष्ट्रपति एक दलित है। राष्ट्रपति एक संस्था है और कांग्रेस पार्टी एक जिम्मेदार दल रहा है। 60 साल तक सत्ता भोगी है। उनमें इतना विवेक नहीं है और दलितों की बातें करते हैं।

‘मां-बेटे हैं जमानत पर बाहर’

प्रधानमंत्री मोदी यहीं नहीं रुके। उन्‍होंने हुबली की चुनावी जनसभा में सोनिया और राहुल को निशाने पर लेते हुए कहा, ‘बीजेपी के सीएम प्रत्‍याशी येदियुरप्‍पा पर कांग्रेस के नेता आरोप लगाते हैं, जबकि खुद मां-बेटे पर 5,000 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है और दोनों जमानत पर बाहर हैं।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के नेता येदियुरप्पा पर गलत आरोप लगाते हैं। येदियुरप्‍पा ने कोर्ट का सामना किया है और उन्हें झूठे मामले में फंसाया गया है। उन्होंने राज्‍य के मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया पर अंधविश्‍वास को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। पीएम मोदी ने कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की नई गाड़ी पर कौआ बैठ गया तो वह डर गए।

कांग्रेस पर लगाया जनता को बांटने का आरोप

पीएम मोदी ने कहा कि धर्म, भाषा, जाति के नाम पर कांग्रेस कर्नाटक को बांटने की राजनीति कर रही है, राज्य के लोग सचेत रहें। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए दिए गए पैसे का कर्नाटक की कांग्रेस सरकार इस्‍तेमाल नहीं कर रही है और कमीशन के इंतजार में पैसे रोके बैठी है। पिछले 5 साल में कांग्रेस के मंत्रियों के बिस्तर और बाथरूम से पैसे निकल रहे, ये पैसे जनता के हैं।’

दलितों के मुद्दे पर निशाने पर है मोदी सरकार

बता दें कि मोदी सरकार इस वक़्त दलित सम्मान को लेकर बैकफुट पर है। ऐसा माहौल बन गया है कि जब से मोदी सरकार आई है दलितों पर हमले तेज़ हुए हैं और उनके अधिकारों का हनन हो रहा है। चाहे वह गुजरात के उना में दलितों पर हमले हों या हैदराबाद यूनिवर्सिटी में दलित छात्र वेमुला की खुदकुशी का मामला या महाराष्ट्र के कोरेगांव में दलितों पर हमला। हर मामले में बीजेपी की सरकारें निशाने पर रही हैं। वहीं बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट के जरिए एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज होने पर फौरन गिरफ्तारी पर रोक के फैसले के बाद मोदी सरकार और भी घिर गई है। यही नहीं, ये भी माहौल बना हुआ है कि मोदी सरकार आरक्षण के खिलाफ है।

Related Post

भोपाल पुलिस बताने को तैयार नहीं, कहां से दबोचा गया 33 ट्रक ड्राइवरों का हत्यारा

Posted by - September 12, 2018 0
विश्वजीत भट्टाचार्य लखनऊ/भोपाल। भोपाल पुलिस ने बीते दिनों 33 ट्रक ड्राइवरों की हत्या के आरोपी आदेश खामरा को पकड़ा है। मीडिया…

केंद्र को SC की फटकार, कहा – ‘ताजमहल को सहेज नहीं सकते तो गिरा दें’

Posted by - July 11, 2018 0
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल के संरक्षण को लेकर उठाए गए कदमों को लेकर केंद्र, उप्र सरकार तथा उसके प्राधिकारियों…

प्रख्यात साहित्यकार व जनवादी लेखक दूधनाथ सिंह का निधन

Posted by - January 12, 2018 0
नई कहानी आंदोलन को चुनौती देने के बाद साठोत्तरी कहानी आंदोलन का सूत्रपात किया था इलाहाबाद। प्रसिद्ध कथाकार और जनवादी लेखक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *