अफगानिस्तान में 6 भारतीय इंजीनियरों का अपहरण, तालिबान पर शक

128 0
  • अगवा इंजीनियरों की रिहाई के लिए भारतीय विदेश मंत्रालय अफगान अधिकारियों के संपर्क में
  • उत्तरी बाग़लान प्रांत की राजधानी के पास बिजली सब-स्टेशन लगाने लगाने का काम कर रहे थे 

काबुल। अफ़ग़ानिस्तान के बाग़लान प्रांत में रविवार (6 मई) को कुछ हथियारबंद लोगों ने 6 भारतीय इंजीनियरों को अगवा कर लिया। इनके अलावा एक अफगान इंजीनियर का भी अपहरण किया गया है। ये सभी इंजीनियर उत्तरी बाग़लान प्रांत में एक पावर प्लांट में काम कर रहे थे और एक निजी कंपनी से जुड़े थे। अपहरण की ज़िम्मेदारी अभी तक किसी संगठन ने नहीं ली है।

विदेश मंत्रालय ने की पुष्टि

विदेश मंत्रालय ने भारतीय इंजीनियरों के अगवा होने की पुष्टि की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है, ‘हमें इस बात की सूचना मिली है कि बागलान राज्य में भारतीय कर्मचारियों का अपहरण हुआ है। इंजीनियरों की रिहाई के लिए भारत सरकार लगातार अफ़ग़ानिस्तान सरकार और बागलान प्रांत के स्थानीय प्रशासन के साथ संपर्क में है। इस बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है। हालांकि विदेश मंत्रालय के अधिकारी अभी यह मानने को तैयार नहीं कि अपहरण तालिबान के लोगों ने किया है।

तालिबान पर जताया जा रहा संदेह

भारत के लिए चिंता की बात यह है कि जिस जगह पर यह अपहरण हुआ है वहां हाल के दिनों में तालिबान की शक्ति काफी बढ़ी है। माना जा रहा है कि इस अपहरण में भी तालिबान का ही हाथ है। अफगानिस्तान और पाकिस्तान की मीडिया ने इस अपहरण को तालिबान की हरकत करार दिया है। वहीं स्थानीय मीडिया के मुताबिक बागलान के गर्वनर अब्दुलहई नेमती ने बताया है तालिबान ने ही भारतीय कर्मचारियों का अपहरण किया है। उनके साथ एक अफगान कर्मचारी का भी अपहरण हुआ है। ये कर्मचारी बागलान राज्य की राजधानी पुल-ए-खुमरी के पास बाग-ए-शमल गांव में एक बिजली सब-स्टेशन लगाने का काम कर रहे थे।

कौन हैं भारतीय इंजीनियर ?

बता दें कि इस घटना से अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने की भारतीय कोशिशों को करारा झटका लगा है। बागलान राज्य में एक भारतीय कंपनी KEC बिजली ट्रांसमिशन लाइन लगाने का काम कर रही थी। इस कंपनी को 2013 में चिमताला और काबुल के बीच 220KV की पावर ट्रांसमिशन लाइन बनाने का ठेका मिला था। अगवा 6 इंजीनियर इसी कंपनी के कर्मचारी हैं।

Related Post

ईंट के भट्ठों पर मजदूरी करने वाले बच्चों की यहां लगती है क्लास, 2000 से भी ज्यादा बच्चों को पढ़ा चुके हैं युवा

Posted by - December 18, 2018 0
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश के बनारस में युवाओं का एक संगठन ईंट के भट्ठों पर मजदूरी करने वाले बच्चों के जीवन को…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *