Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

अमेरिका के हवाई में भूकंप के 250 से ज्यादा झटके, फटा ज्वालामुखी, घरों पर गिरा लावा

325 0

हवाई। अमेरिका के हवाई द्वीप में गुरुवार और शुक्रवार (3-4 मई) को 24 घंटे में भूकंप के 250 से ज्यादा झटके आए, जिसके बाद लोगों में दहशत फैल गई। रिक्टर पैमाने पर उनकी अधिकतम तीव्रता 5 मापी गई। इसके बाद वहां का किलाऊ ज्वालामुखी फट गया और उसका राख और लावा घरों और सड़कों पर बिखर गया। करीब 2,000 लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर शरण लेनी पड़ी। हवाई में आपातकाल लागू कर दिया गया है।

250 से ज्यादा भूकंप के झटके
अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण विभाग ने बताया कि ज्‍वालामुखी के आसपास 24 घंटे में करीब 250 से ज्‍यादा भूकंप के झटके महसूस किए गए। सबसे गंभीर भूकंप के झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5 थी। लगातार भूकंप के झटकों ने पूरे इलाके को हिलाकर रख दिया। भूकंप के कई झटकों के बाद वहां के किलाऊ ज्वालामुखी में विस्फोट हो गया।

किलाऊ ज्वालामुखी में विस्फोेट के बाद उसका लावा बड़े क्षेत्र में फैल गया

ज्वालामुखी से सड़क पर पड़ीं दरारें

ज्वालामुखी फटने के बाद उसके लावे आवासीय क्षेत्र और सड़क पर फैल गए जिनसे सड़क में दरारें पड़ गईं। किलाऊ ज्वालामुखी 1983 से ही सक्रिय है, लेकिन पहली बार यह इतने बड़े पैमाने पर भड़का है। ज्वालामुखी की चपेट में 4000 एकड़ जमीन भी आ गई है। खतरे के कारण ज्वालामुखी से सटे नेशनल पार्क बंद कर दिया गया है।

17,00 लोगों को हटाया गया
ज्वालामुखी फटने के बाद उसका लावा हवाई के सबसे बड़े द्वीप के आवासीय क्षेत्र के पास फैल गया। इसके बाद नेशनल गार्ड के जवानों ने क्षेत्र के करीब 1,700 लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया। ज्वालामुखी विस्फोट से लीलानी एस्टेट सबसे ज्‍यादा प्रभावित हुआ है। हवाई काउंटी सिविल डिफेंस ने निवासियों व साथ ही साथ लानीपुना गार्डेंस के लोगों से स्थानीय सामुदायिक केंद्र में शरण लेने को कहा है। एक निवासी ने बताया कि सड़क पर लावा पूरी तरह से फैला था और उन्हें सल्फर व जले पेड़ों की गंध आ रही थी।

Related Post

अगर किसानों ने पराली जलाना बंद नहीं हुआ तो 2050 तक इतना बढ़ जाएगा प्रदूषण : स्टडी

Posted by - October 25, 2018 0
नई दिल्ली। पीजीआई के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ और पंजाब यूनिवर्सिटी की एनवायरनमेंट स्टडीज की स्टडी में ये बात समाने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *